tttt

दोस्तों यह संसार सिर्फ इंसानियत के वजह से चल रहा है अभी भी 100 में से 90 लोग इंसान है लेकिन आज के इस खबर में हम जानेंगे एक पुलिसकर्मी और एक बूढी माता जी के बिच एक अनूठी रिश्ते के बारे में भले ही दोनों के बीच में खून का रिश्ता नहीं है लेकिन कहानी जानकर आपको ऐसा लगेगा की ये दोनों के बीच का रिश्ता किसी खून से बढ़कर है.

Also read: गरीब परिवार की बेटी खेती का काम संभालते हुए स्कूल में की टॉप, पिता के पास पिता के पास नहीं थे पैसे रोते-रोते माँ बताई पूरी कहानी…

image 489
Image Credit – Twiter

दोस्तों यह मामला गुजरात के राजकोट शहर स्थित भक्तिनगर पुलिसठाणे की है. जहाँ एक 89 वर्षीय बूढी माता जी जिनका नाम वीनू बेन अढ़िया है. ये माता जी करीब पिछले चार से पांच सालों से भक्तिनगर थाने में रोज जाया करती थी.

image 490
Image Credit – Twiter

और वीनू बेन अढ़िया माता जी रोज पुलिस स्टेशन आकर पुलिस वालों से बात करती है और आइसक्रीम भी खाती है. और पुलिस वाले भी वीनू बेन अढ़िया माता जी से बहुत प्यार के साथ पेश आते है और मीठी-मीठी बातें करते है.

image 491
Image Credit – Twiter

और बताया जाता है की वीनू बेन अढ़िया राजकोट के मेहुलनगर की गली नम्बर-6 में की रहने वाली है और यह माता जी रोज अपने घर से पैदल चलकर पुलिस थाने आती थी यह रूटीन रोज का था.

image 494
Image Credit – Twiter

ये रिश्ता उन दिनों से चला आ रहा था जब एक दिन वीनू बेन अपने रूम मालिक के खिलाफ अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट लिखाने जाती है और रिपोर्ट लिखने के बाद ऑफीसर उसको रूम मालिक को यह कहते है नम्रता पूर्वक रूम में रहने दे और रूम से नहीं निकाले तब से ये माता जी में और पुलिस वाले में माँ-बेटे जैसा रिश्ता बन गया.

image 493
Image Credit – Twiter

सोनू मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले है पिछले 4 साल से डिजिटल पत्रकारिता...