Inspiration

गुरु रहमान : मिलिये उनसे जिन्होंने गरीब बच्चों को आईएएस-आईपीएस बना दिया 11 रुपये की फीस में

: सब इंस्पेक्टर, आईएएस, आईपीएस, आईआरएस और सीटीओ अफसर बन चुके अदम्य अदिति गुरुकुल के सैकड़ों छात्रों के लिये गुरु रहमान एक ऐसे शिक्षक हैं जिन्होंने उनकी दुनिया बदल दी है। डॉ. मोतिउर रहमान खान कहते हैं- अमिता और मुझे कॉलेज में प्यार हो गया और उन्हें प्रभावित करने के लिये मैंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय …

गुरु रहमान : मिलिये उनसे जिन्होंने गरीब बच्चों को आईएएस-आईपीएस बना दिया 11 रुपये की फीस में Read More »

बिहार सहरसा के लाल Dilkhush Kumar ने शुरू की ‘कैब सर्विस’ जो ओला-उबर से भी किफायती है

अपने नाम की तरह दिलखुश कुमार सामाजिक कार्यों में भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हैं, इसके लिए इनकी कैब सर्विस बेटी पैदा होने पर जच्चा-बच्चा को सरकारी अस्पताल से घर तक की निःशुल्क सेवा देती है. कैब सर्विस आज के समय का जाना-पहचाना नाम है, पर कैब सर्विस देने में बिहार में अभी तक बाहरी …

बिहार सहरसा के लाल Dilkhush Kumar ने शुरू की ‘कैब सर्विस’ जो ओला-उबर से भी किफायती है Read More »

27 किलोमीटर रोज पैदल चलकर काम करने जाता था शख्स, एक दिन लिफ्ट मिली और बदल गई किस्मत

वॉशिंगटन, जून 25: जब तक इस दुनिया में मुट्ठी भर अच्छे लोग भी मौजूद रहेंगे, ये दुनिया चलती रहेगी, हंसती रहेगी। अमेरिका की एक शख्स ने जो किया है, वो मिसाल से कम नहीं है। सोशल मीडिया के जमाने में देखते ही देखते लोगों की किस्मत पूरी तरह से बदल जाती है और अमेरिका के …

27 किलोमीटर रोज पैदल चलकर काम करने जाता था शख्स, एक दिन लिफ्ट मिली और बदल गई किस्मत Read More »

30 साल से गांव में बस सर्विस नहीं थी, IAS ने 5 दिन के अंदर गांव वालों को तोहफा दिया…

तमिलनाडु को एक गांव करुप्पमपलयम में पिछले 30 साल से कोई बस नहीं आ रही थी. लेकिन, अब इस गांव में स्टेट  ट्रांसपोर्टर कॉरपोरेशन ने बस सर्विस की शुरुआत कर दी है. गांव वाले पिछले 30 साल से इसे लेकर संघर्ष कर रहे थे. बस नहीं होने की वजह से उन्हें रो 2-3 किमी पैदल …

30 साल से गांव में बस सर्विस नहीं थी, IAS ने 5 दिन के अंदर गांव वालों को तोहफा दिया… Read More »

कनाडा में लाखों के पैकेज की नौकरी छोड़कर शुरू की यूपीएससी की तैयारी, 174वीं रैंक हासिल कर बनी आईपीएस अधिकारी…

: युवाओं मे विदेश में नौकरी को लेकर एक अलग ही क्रेज होता है। उच्च शिक्षा प्राप्त कर लेने के बाद ज्यादातर युवाओं की ये ख्वाहिश होती है कि वे विदेश जाकर नौकरी करें और वही सेटल हो जाएं। ऐसे में आईपीएस पूजा यादव की कहानी आपकी सोच को बदल कर रख देगी। पूजा यादव …

कनाडा में लाखों के पैकेज की नौकरी छोड़कर शुरू की यूपीएससी की तैयारी, 174वीं रैंक हासिल कर बनी आईपीएस अधिकारी… Read More »

बिहार की बेटी शालिनी झा को गूगल दिया 60 लाख रुपये का पैकेज…

विश्व की सबसे बड़ी और जानी-मानी कंपनी गूगल ने बिहार के शालिनी झा को ₹60 का पैकेज के साथ काम करने का अवसर दिया है शालिनी बिहार के भागलपुर जिले के सुल्तानगंज के निवासी हैं शालिनी महज 21 वर्ष की हैं इस उम्र में उनके लिए यह बड़ी सफलता है, भागलपुर से शालिनी गूगल के …

बिहार की बेटी शालिनी झा को गूगल दिया 60 लाख रुपये का पैकेज… Read More »

Renu Raj ने डॉक्टरी छोड़ दिया UPSC का एग्जाम और हासिल की दूसरी रैंक, पहले ही प्रयास में बनीं IAS

केरल के कोट्टायम की रहने वाली रेनू राज ने अपनी डॉक्टरी छोड़ पहले यूपीएससी का एग्जाम दिया और ऑल इंडिया रैंक में दूसरा स्थान हासिल कर आईएएस अफसर बन गईं. रेनू ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा केरल के कोट्टायम के सेंट टैरेसा हायर सेकेंडरी स्कूल से पूरी की और इसके बाद रेनू ने कोट्टायम के ही …

Renu Raj ने डॉक्टरी छोड़ दिया UPSC का एग्जाम और हासिल की दूसरी रैंक, पहले ही प्रयास में बनीं IAS Read More »

22 साल की उम्र में पास किया UPSC एग्जाम, दूसरे प्रयास में मिली सफलता

|पूजा अवाना (Pooja Awana) के पिता विजय अवाना अपनी बेटी को पुलिस की वर्दी में देखना चाहते थे और पिता के सपने को पूरा करने के लिए पूजा ने यूपीएससी की तैयारी शुरू की, हालांकि उनके लिए यह सफर आसान नहीं था.  नोएडा के अट्टा गांव की रहने वाली पूजा अवाना (Pooja Awana) शुरुआत से …

22 साल की उम्र में पास किया UPSC एग्जाम, दूसरे प्रयास में मिली सफलता Read More »

मात्र 2 वर्ष की उम्र में चली गई थी आंखों की रौशनी, अपंगता को मात देकर पहले प्रयास में ही बने IAS अफसर

हर एक की किस्मत में सफलता पाना आसान नहीं होता, मार्ग में कई रुकावटें बाधा बनकर सामने आती हैं। लेकिन इन रुकावटों को जो पार कर जाए, वही असली योद्धा कहलाता है। आज हम भी आपकों ऐसे ही एक शख्स के संघर्ष की कहानी बताने जा रहे है, जो आपको भीतर तक झकझोर देगी। जिस …

मात्र 2 वर्ष की उम्र में चली गई थी आंखों की रौशनी, अपंगता को मात देकर पहले प्रयास में ही बने IAS अफसर Read More »

5 साल की नौकरी के बाद एक बहादुर चूहा हुआ रिटायर, बचाई थी हजारों लोगों की जान…

एक चूहे ने मनुष्यों की रक्षा की और अब वह अपनी सेवा से निवृत्त हुआ है। हम बात कर रहे हैं अफ्रीकी नस्ल के मगावा (Magawa Rat)नामक चूहे की। पिछले 5 वर्षों में मगावा चूहे ने कंबोडिया में लगभग 99 बा रूदी सुरंगों को खोजा और हजारों व्यक्तियों की जान बचाई जा सकी। यह मगावा चूहा (Magawa …

5 साल की नौकरी के बाद एक बहादुर चूहा हुआ रिटायर, बचाई थी हजारों लोगों की जान… Read More »