बेटी तुम्हें आईएएस बनना है ऐसा कह कर मिन्नू के पिता दुनिया को अलविदा कह दिए, बेटी ने पिता के सपने को पूरा कर दिखाया, किया यूपीएससी क्लियर

” बेटी ! तुम्हें आईएएस बनना है, बेटी तुम खूब मेहनत से पढना, मै तुम्हे बता देना चाहता हूँ जो लोग लगन और मेहनत से पढ़ते है उन्हें सफलता जरुर मिलती है | मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ रहेगा ” और मिन्नू के पिता इस दुनिया को अलविदा कह दिए | मिन्नू महज इंटरमीडिएट में पढ़ती थी की उसके सर से बाप का साया उठ गया | मिन्नू के दिमाग पर बहुत गहरा असर पड़ा था |

बिना पिता के जिंदगी गुजारना आसान नहीं लग रहा था | मिन्नू के पिता पुलिस में नौकरी करते थे | इसी कारणवस अनुकम्पा के आधार पर मिन्नू को भी पुलिस नौकरी लग गई थी | मिन्नू पुलिस में क्लर्क की पोस्ट पर कार्यरत हो गई | लेकिन मिन्नू के दिलों दिमाग में हमेशा पापा के द्वारा बोली गयी बाते कौंधती रहती थी | “मिन्नू तुम्हे आईएएस बनना है ” |

यह भी पढ़ें  पेट में था बच्चा नहीं मानी हार दर्द के बीच में भी दी UPSC की परीक्षा, बनी कमिश्नर सब दे रहे बधाई

आईएएस बनने के उद्येश्य से ही क्लर्क की नौकरी करते हुई उसने UPSC की तैयारी शुरू कर दी | नौकरी से जब भी छुट्टी मिलती वो अपना सारा वक्त UPSC की तैयारी में लगा देती | एक साक्षात्कार में उन्होंने बताया की पूर्व डीजीपी लोकनाथ बेहरा ने अच्छा मार्गदर्शन दिया | वह बताते थे कि छुट्टियों के दिन में कैसे परीक्षा की तैयारी करनी है | छुट्टियों के समय का एक मिनट भी व्यर्थ में नहीं गवाना चाहिए | सारा ध्यान पढाई पर देनी चाहिए |

आगे मिन्नू बताती है की मै पुलिस मुख्यालय में नौकरी करती थी | वह कई IAS IPS आते-जाते रहते थे | उन्हें देख कर मुझे भी IAS बनने का मन करता | सोचती कभी मै भी इसी तरह एक प्रशासनिक अधिकारी के तरह रहूँ | फिर मैंने ने तैयारी करना शुरू किया | खूब मेहनत से मै सफल हुई |

यह भी पढ़ें  बिहार : एक पैर पर 1KM कूदकर स्कूल जाती है ये बच्ची, अब मदद करेंगे अभिनेता सोनू सूद बोले....

मिन्नू ने केरल पुलिस की नौकरी को साल 2013 में शुरू कर दिया था | फिर उन्होंने साल 2015 में तैयारी करना शुरू कर दिया था | UPSC परीक्षा के पहले एटेम्पट में वो मात्र 13 अंकों से चुक गई थी , लेकिन, दूसरी बार उन्हें सफलता मिल गई है | सिविल सर्विस 2020 का रिजल्ट आया, जिसमें मिन्नू ने भी क्वालिफाई कर लिया था . उनका 150वां रैंक आया था |