89 वर्षीय बूढ़ी माताजी हैं पुलिसकर्मियों की अनूठी मां, रोज थाने आकर आइसक्रीम खाती हैं और आशीर्वाद देकर चली जाती हैं

ऐसा जरूरी नहीं होता कि खून के रिश्ते ही निभाए जाते हैं, कुछ लोग इंसानियत के नाते बेनाम रिश्ते भी इस क़दर निभाते हैं, की उनका निश्छल प्रेम सबके लिए सीख का सबब बन जाता है। आज हम एक ऐसे ही अनूठे रिश्ते के बारे में बता रहे हैं जो पुलिसकर्मियों और एक बूढ़ी माताजी का है।यह किस्सा है गुजरात में राजकोट शहर में स्थित भक्तिनगर पुलिस थाने का है |

जहाँ 89 वर्षीय वृद्धा जिनका नाम “वीनू बेन अढ़िया” (Veenu Ben Adhiya) है, वे पिछले साढ़े तीन वर्षों से पुलिस स्टेशन आती हैं।रोजाना आकर पुलिस अधिकारियों से आइस्क्रीम लेकर खाती हैं, और पुलिसकर्मी भी इससे पीछे नहीं हटते हैं हरमोनिया बुलाकर अच्छा से सेवा करते हैं और प्यार से अपने पास में बैठआते हैं.

यह भी पढ़ें  दो बहने ने मिलकर शुरू की बिजनेस पिता ने दिया साथ आज हो रही कमाई करोड़ो में....

साढ़े तीन वर्षों से पुलिसवालों से मिलने उनकी यह माँ पैदल ही आया करती हैं

गौरतलब है कि यह वृद्धा जिनका नाम वीनू बेन अढ़िया है, वे राजकोट के मेहुलनगर की गली नम्बर-6 में रहा करती हैं।  हर पुलिसकर्मी बताया करते हैं कि ला माताजी रोज पैदल चल कर दो बार दिन में आते हैं और उसके बाद यहां आकर आइसक्रीम खा कर और पुलिस वाले को दुआएं देकर जाती है जबकि उनकी बहुत ज्यादा उम्र भी हो गई है फिर भी वह पीछे नहीं हटती.

70 सालों से वीनू बेन और उनका परिवार 70 राजकोट में रहता है। एक सिपाही ने बताया कि वे कई सालों को पहले कोलकाता में शिक्षिका थीं। वे रोजाना पुलिस थाने में आकर दो-ढाई घंटे बैठती हैं। जिससे मैं भी वीनू बेन पुलिस स्टेशन में आती हैं और उन्हें आइसक्रीम खिलाने के अलावा उनको फोन से उनके घर वाले रिश्तेदार बाकी और सदस्यों से फोन पर उनकी बात करवा देते हैं जिससे वह माता जी बहुत खुश हो जाती है.

यह भी पढ़ें  साइकिल पंक्चर बनाने वाला लड़का बना DM, IAS परीक्षा में 32वां रैंक, लहराया परचम