इस महिला ने इस काम को 50 हजार से भी कम से की थी शुरुआत अब करोड़ों में हो रहा मुनाफा…

कन्फेट्टी गिफ्ट्स फरवरी 2020 में सौम्या काबरा द्वारा शुरू किया गया था। पर्सनलाइजेशन पर फोकस ब्रांड अपनी वेबसाइट के माध्यम से हर महीने 1,300 कस्टमर्स को सर्विस प्रदान करता है, और इसके B2B ग्राहकों में अमेजॉन, आईबीएम, एडोब, रेजरपे जैसे ब्रांड्स हैं। ऐसे समय में जहां व्यक्तिगततौर पर किसी से मिलना चुनौतीपूर्ण है, वहां डिजिटाइजेशन के चलते अब विशेष अवसरों पर अपने प्रियजनों तक पहुंचना संभव हो गया है। यही वजह है कि ऑनलाइन गिफ्टिंग इतनी लोकप्रिय हो रही है।

एक रिपोर्ट के अनुसार, कई दुकानें बंद होने के बावजूद, गिफ्ट कार्ड मार्केट पिछले एक साल में कई कारकों से प्रभावित हुआ, जिसमें ई-कॉमर्स की वृद्धि, कर्मचारियों को दूर से काम करने के

यह भी पढ़ें  पोती को पढ़ाने के लिए दादा ने घर तक बेच दिया, अब ऑटो में ही खाते और सोते हैं

लिए प्रोत्साहित करना, डिजिटल गिफ्ट, और सरकार द्वारा की गईं पहलें, हॉस्पिटैलिटी, और ट्रैवल इंडस्ट्रीज शामिल हैं। मार्केट रिसर्च कंपनी TechSci की रिसर्च के अनुसार, भारतीय गिफ्ट मार्केट 2019 में 119 मिलियन डॉलर से बढ़कर 2025 तक 159 मिलियन डॉलर होने का अनुमान है।

गैप को पहचानना :

भारत में अपने दोस्तों के लिए कुछ गिफ्ट ऑर्डर करना चाहती थीं, लेकिन ऐसा कोई भी पोर्टल नहीं मिला जो “भेजने वाले की निजी भावनाओं” को समझ सके। वह बताती हैं, “उपलब्ध गिफ्ट ऑप्शन बहुत बुनियादी थे और व्यक्तिगत भावनाओं के बारे में वास्तव में परवाह नहीं करते थे। विविधता बहुत सीमित थी और उनमें ऐसा कुछ भी नहीं था जो किसी व्यक्ति की पसंद या अच्छा को पहचानता हो।”

यह भी पढ़ें  रिक्शा चलाकर-दूध बेचकर बने मास्टर, रिटायर हुए तो...गरीब बच्चों के लिए दान कर दिए रिटायरी में मिले 40 लाख रूपये !