5 सालों के भीतर एक नहीं दो नहीं 9 9 सरकारी नौकरियां लेकर सफलता के परचम लहराए

प्रमिला का जन्म बेहद कमजोर परिवारिक एक किसान परिवार से बिलॉन्ग कर रही है परवीना के पिता पेशे से किसान है प्रमिला के पिता मनोरमा देवी ग्रहणी है और संसाधनों नहीं होने के कारण इसकी पढ़ाई अच्छी लिखे से नहीं हो पाई लेकिन इसने अपना मेहनत और जुनून नहीं छोड़ा और 5 सालों के भीतर एक दो नहीं पूरे पूरे नो नो ना नौकरिया लेकर दिखाई सबसे खास बात यह है कि इसमें जितने भी यह काम के यह शादी के बाद की है प्रमिला के पति भी पेशे से वकील है |

और शादी के बाद जरा तलाश किया अपने परिवारिक रिश्ते में लग जाती है और अपने करियर पर चित्र से फोकस नहीं कर पाती है लेकिन पर मिला लें वह सब छोड़कर अपने करियर पर ज्यादातर ध्यान दियाऔर उसके बाद आज आज पुलिस में कार्यरत है |

यह भी पढ़ें  IAS Interview Question : दुनिया का वह कौन सा जगह है जहाँ खट्टा शहद मिलता है ?

प्रमिला को उसके पति और सास-ससुर का भरपूर साथ मिला है और उसका भाई ने भी उसको बखूबी साथ निभायाप्रमिला ने अपनी सफलता का राज बताइए कि बारूद घर से 2 से 3 किलोमीटर पैदल चलकर बस पकड़ने के लिए जाती थी और वह सोशल मीडिया से बहुत दूर रहती थी | और आपने सफलता का राज व अपने परिवार पिता पति सास ससुर को दी है