अगस्त में जन्मे लोग होते इस मामले में सबसे आगे, जानें इनके बारे में रोचक बातें

अगस्त माह में जन्म लेने वाले जातक स्वभाव से कंजूस होते हैं। इनका यही स्वभाव इन्हें धनी बनाता है। इस माह में जन्म लेने वाले बुद्धिमान होते हैं। अपने बुद्धि के बल पर ही आप समाज में अपना एक अलग ही प्रभाव छोड़ते हैं।

गस्त का महीना कैलेंडर का आठवां महीना होता है। इस महीने उत्तर भारत में झमाझम बारिश का नजारा देखने को मिलता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जिन जातकों का जन्म अगस्त माह में होता है उन जातकों के स्वभाव में कुछ विशेष ग्रहों का प्रभाव देखने को मिलता है। अगस्त माह में जन्मे जातकों के ऊपर सूर्य ग्रह का प्रभाव देखने को मिलता है। इनकी राशि सिंह होती है। इस मास में जन्मे जातकों के प्रत्येक कार्य में लीडरशिप दिखाई देती है। मिथुन और कन्या राशि के जातक इनके अच्छे मित्र होते हैं। अगस्त माह में जन्मे लोगों को प्रशासनिक नौकरी में जल्दी सफलता मिल जाती है। किसी भी बात को अपनी तरफ घुमाना इन्हें बहुत अच्छे से आता है। इनकी चतुराई इनकी वाणी से साफ देखी जा सकती है। आइए जानते हैं अगस्त माह में जन्म लेने वाले जातकों में और क्या-क्या विशेषताएं देखने को मिलती हैं-
अगस्त माह में जन्म लेने वाले जातक स्वभाव से कंजूस होते हैं। इनका यही स्वभाव इन्हें धनी बनाता है। इस माह में जन्म लेने वाले बुद्धिमान होते हैं। अपने बुद्धि के बल पर ही आप समाज में अपना एक अलग ही प्रभाव छोड़ते हैं। समाज की भलाई के कामों में आपकी खूब सक्रियता देखने को मिलती है। हालांकि भलाई का कामों में आपका स्वार्थ छिपा होता है।

आप अधिक लोगों से मित्रता करने में यकीं नहीं करते हैं। आपके चुनिंदा दोस्त होते हैं। इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि आप में गजब की प्रतिभा छिपी हुई होती है। आप कला, साहित्य और विभिन्न रचनात्मक विधाओं में आप अपनी अलग पहचान बनाते हैं। आपके भीतर सौन्दर्य बोध कमाल का है। आप अपनी मर्जी के मालिक हैं। आप स्पष्टवादी होते हैं। कई बार आपकी यह आदत आपको मुसीबत में डाल देती है।
आर्थिक मामलों में आप बेहद संजीदा होते हैं। आपका अर्थ प्रधान नजरिया है। आप अपनी कौड़ी-कौड़ी का भी हिसाब रखते हैं। जहां तक प्यार का मामला है तो आप रिश्ते को बहुत ज्यादा अहमियत नहीं देते हैं। कभी कभार तो रिश्ते से ज्यादा पैसा आपके लिए प्रिय हो जाता है। 

अगर इनके लकी नंबर की बात करें तो 2 ,5 और 9 नंबर इनके लिए भाग्यभाली माना जाता है। वहीं स्लेटी, गोल्डन और रेड रंग इनके लिए लकी माना जाता है। वहीं रविवार और शुक्रवार इनके लिए शुभ दिन माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार स्वास्थ्य के लिए माणिक, भाग्योदय के लिए मूंगा और यदि चर्म रोग या गुप्त रोग परेशान कर रहे हों तो पुखराज धारण करना चाहिए

साभार :- amar ujala