आपने कई ऐसी कहानी सुना होगा जिसमें यूपीएससी में मिले सफलता के बारे में बाताया जाता है आज के इस खबर में हम उसी कहानी की बात करने वाले है जो कि सौम्या पाण्डेय के बारे में है सौम्या महज पहले ही प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हाशिल की है.

Also read: गरीब परिवार की बेटी खेती का काम संभालते हुए स्कूल में की टॉप, पिता के पास पिता के पास नहीं थे पैसे रोते-रोते माँ बताई पूरी कहानी…

एक कहावत है की कोई काम को भले ही एक दिन में पूरा नहीं किया जा सकता है लेकिन एक दिन वह जरूर पूरा होता अहि अगर उसके प्रति सच्चे मेहनत और लगन से प्रयास एवं मेहनत की जाए. यूपीएससी की परीक्षा भारत की सर्वश्रेष्ठ परीक्षाओं में से एक परीक्षा मानी जाति है.

वहीँ सौम्या पाण्डेय के बारे में बात करें तो सौम्या उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले की निवासी हैं.पढाई लिखाई की तो बचपन से ही पढाई लिखाई में तेज सौम्य दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज से राजनीति विज्ञान में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की.

उसके बाद में वो बाद में लौ कॉलेज से मास्टर की डिग्री हाशिल की और युपिएस्स्सी की तैयारी में जुट गई आखिरकार उन्हें २०१६ में सफलता मिल ही गया और वो आईएएस अधिकारी बन गई. इतना ही नहीं उन्हें ऑल ओवर इंडिया में ४थ रैंक हाशिल हुआ.

सोनू मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले है पिछले 4 साल से डिजिटल पत्रकारिता...