ONLINE क्लास के दौरान कोचिंग की छात्रा को दिल दे बैठे गुरुजी, मंदिर में जाकर दोनों ने कर ली शादी

कहा गया है कि प्यार अंधा होता है यह कही भी किसी से हो सकता है। लेकिन जब गुरु और शिष्या के बीच का संबध शादी के बंधन तक पहुंच जाए तो चर्चा होना लाजिमी है। ताजा मामला भागलपुर और बांका जिले से जुड़ा है। भागलपुर का रोहित और बांका की काजल की यह प्रेम कहानी इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल पढ़ाई के दौरान दोनों में प्यार हुआ और यह बात शादी तक पहुंच गयी। 

काजल को रोहित पसंद आ गया वही रोहित भी उसे चाहने लगा। लेकिन अपने दिल की बात काजल इजहार नहीं कर पा रही थी। काजल के इशारे को रोहित ने समझ लिया। जिसके बाद दोनों ने शादी करने का फैसला ले लिया। दोनों इस दौरान मिलने लगे और अपने प्रेम का इजहार करने लगे। जब इस बात की चर्चा समाज में होनी शुरू हो गयी तब दोनों ने मंदिर में जाकर शादी कर ली।

यह भी पढ़ें  बिहार : बुआ-भतीजा एक साथ पढ़ते थे कोचिंग चढ़ गया दोनों को प्यार का बुखार, रिश्ता हुआ शर्मसार

भागलपुर के सुल्‍तागनंज के कुमारपुर गांव निवासी रोहित सुल्तानगंज बाजार और बांका के झखरा नहर मोड़ पर दिशा फिजिक्स नामक कोचिंग का संचालन करता है। वहां बांका के शंभूगंज प्रखंड के बिरनौधा गांव की काजल पढ़ने आती थी। इसी दौरान दोनों को एक-दूसरे से प्‍यार हो गया। लॉकडाउन में शिक्षण संस्थान बंद होने के कारण ऑनलाइन पढ़ाई के साथ दोनों का प्यार भी गहराता चला गया।

इस दौरान दोनों ने चोरी-चुपके शादी कर ली।  गुरु और छात्रा की शादी का वीडियो और सोशल मीडिया पर खूब वायरल है। इस पर आपत्तिजनक टिप्पणियों के बाद खुद शिक्षक रोहित ने एक ऑडियो जारी किया है। जिसमें उसने कहा कि हमदोनों ने प्रेम विवाह किया है। शादी के बाद दोनों के परिजनों रोहित और काजल को स्वीकार कर लिया। परिजनों का कहना है कि प्रेम विवाह करना कोई गुनाह नहीं है। इससे जातिवाद और दहेजप्रथा पर अंकुश लगेगा। वही गुरु और छात्रा की शादी की खबर मिलने के बाद इलाके में चर्चा का बाजार गर्म है।  

यह भी पढ़ें  शादी के सातवें दिन पति के साथ बाज़ार गई पत्नी चूड़ी खरीदने, पत्नी पुराना प्रेमी के साथ हो गई भरे बाज़ार से फरार देखता रह गया बेचारा पति