35 साल के निश्चल ने महीने भर में बना दिया क्रिप्टो एक्सचेंज, अब है मंथली ट्रेडिंग वाॅल्यूम 35000 करोड़

मुंबई के रहने वाले 35 साल के निश्चल शेट्टी ने कभी नहीं सोचा था कि उनका ये क्रिप्टो स्टार्टअप (Crypto startup WazirX) इतनी तेजी से आगे बढ़ेगा. इस साल अकेले मई महीने में वजीर एक्स पर 10 लाख नए यूजर्स जुड़ गए हैं.

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज वजीर एक्स (WazirX) आज खूब चर्चा में है. करीब दो साल पहले तक इसके बारे में कोई नहीं जानता था, लेकिन आज इसका नाम भारत के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज (Crypto Exchange) में शुमार है.

मुंबई के रहने वाले 35 साल के निश्चल शेट्टी ने कभी नहीं सोचा था कि उनका ये क्रिप्टो स्टार्टअप (Crypto startup WazirX) इतनी तेजी से आगे बढ़ेगा. WazirX के को-फाउंडर और सीईओ निश्चल शेट्टी (Nischal Shetty ) ने साल 2018 में इसकी शुरुआत की थी. तब से लेकर साल 2020 तक इस पर 10 लाख यूजर्स थे और अब इस साल अकेले मई महीने में 10 लाख नए यूजर्स जुड़ गए हैं. वर्तमान में वजीर एक्स पर ट्रेडिंग वाल्यूम 35,000 करोड़ प्रति महीने पर पहुंच गया है.

यह भी पढ़ें  रिक्शा चलाकर-दूध बेचकर बने मास्टर, रिटायर हुए तो...गरीब बच्चों के लिए दान कर दिए रिटायरी में मिले 40 लाख रूपये !

WazirX की शुरुआत कैसे हुई? इस सवाल के जवाब में निश्चल शेट्टी बताते हैं, साल 2017 में मैंने बिटक्वाइन (Bitcoin) में निवेश करने का सोचा. उस वक्त मैं एक भारतीय क्रिप्टो एक्सचेंज पर गया, लेकिन वह प्लेटफाॅर्म इतना स्लो और अव्यवस्थित था कि इसमें मुझे सप्ताह भर का समय लग गया. तब तक बिटक्वाइन की काफी वैल्यू बढ़ चुकी थी और मैं निवेश नहीं कर पाया. उस वक्त मुझे एक व्यवस्थित क्रिप्टो एक्सचेंज की जरूरत महसूस हुई, जहां आसानी से क्रिप्टो में ट्रेड किया जा सके. इसके बाद मैंने अपने कुछ जानकारों को इसके बारे में बताया और इस पर काम शुरू कर दिया. मैंने 10 लोगों की एक टीम बनाई और फिर 2 महीने में वजीर एक्स को तैयार कर लिया.

यह भी पढ़ें  अखबार बेचकर दर्जी का बेटा बना DM, 370वीं रैंक लाकर IAS परीक्षा में लहराया परचम, क्लियर किया UPSC

धीरे-धीरे हम इसे यूजर्स फ्रेंडली बनाते गए. आज की तरीख में हमारे पास 150 लोगों की टीम है. आने वाले दिनों में इसे और बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं. क्रिप्टो स्टार्टअप से पहले मैं मुंबई से इंजीनियरिंग की पढ़ाई करके एक साॅफ्टवेयर कंपनी में नौकरी करता था. इसके बाद मैंने जोमैटो जैसी एक स्टार्टअप कंपनी में काम किया. बाद में मैंने नौकरी छोड़ दी और अपना कारोबार शुरू किया. निश्चल कहते हैं, WazirX मेरी दूसरी स्टार्टअप कंपनी है.