ऐश्वर्या श्योरेन ने तय किया रैंप से टॉप रैंक का सफर, मिस इंडिया फाइनलिस्ट बनने के बाद चुना UPSC का रास्ता और बन गईं IFS

ऐश्वर्या श्योरेन ने तय किया रैंप से टॉप रैंक का सफर, मिस इंडिया फाइनलिस्ट बनने के बाद चुना UPSC का रास्ता और बन गईं IFS

UPSC Exam को लेकर देश के युवाओं में एक अलग क्रेज देखने को मिलता है। हर साल लाखों कैंडिडेट UPSC एग्जाम में बैठते हैं, लेकिन चुनिंदा कैंडिडेट को ही इसमें कामयाबी हासिल होती है। एग्जाम पास करने वाले कैंडिडेट आगे जाकर IAS, IPS और IFS जैसे अहम पदों पर अपनी सेवाएं देते हैं। साल 2019 में भी ठीक ऐसा ही हुआ था जब लाखों कैंडिडेट्स ने ये एग्जाम और करीब 800 का इसमें चयन हुआ था। इनमें एक ऐश्वर्या श्योरेन का नाम भी शामिल था।

यह भी पढ़ें  बिहार की बेटी : घर बैठे की पढाई सेल्फ स्टडी के बदौलत पहले प्रयास में मिला सफलता बनी दरोगा

ऐश्वर्या श्योरेन के नाम की चर्चा भी खूब हुई थी क्योंकि उनकी पहली पसंद यूपीएससी नहीं बल्कि मॉडलिंग थी। ऐश्वर्या लंबे समय से मॉडलिंग की तैयारी भी कर रही थी। मॉडलिंग में भी ऐश्वर्या ने कम शोहरत हासिल नहीं की थी। ऐश्वर्या साल 2016 के फेमिना मिस इंडिया पीगेंट की फाइनलिस्ट थीं। हालांकि बाद में उनका मन यूपीएससी के लिए तैयारी करने का किया और उन्होंने इसमें कामयाबी भी हासिल की।

ऐश्वर्या श्योरेन ने यूपीएससी 2019 सिविल सर्विस के एग्जाम में 93 रैंक हासिल की थी। इसके बाद उनका IFS बनने का रास्त साफ हो गया था। इस साल कुल 829 कैंडिडेट का चयन हुआ था, जिसमें से एक ऐश्वर्या का नाम भी शामिल था। अपनी कामयाबी का पूरा श्रेय ऐश्वर्या ने अपने माता-पिता को दिया था। उनके पिता आर्मी में अफसर हैं और यहीं से उन्हें पहली बार यूपीएससी के बारे में पता चला था।

यह भी पढ़ें  मात्र एक टिप्स ने बदल दी इस इंसान की जिंदगी फल बेचने वाले से बना दिया 300 करोड़ की कम्पनी का मालिक जाने