UKJUY

दोस्तों एक कहावत है की सफलता एक दिन में नहीं लेकिन मेहनत करते रहने से एक दिन जरूर मिलती है. आज के खबर में हम बात करने वाले है एक ऐसे ही हरियाणा की रहने वाली ममता यादव के बारे में जो की अपने गाँव में वह अकेले आईएएस ऑफिसर है.

Also read: गरीब परिवार की बेटी खेती का काम संभालते हुए स्कूल में की टॉप, पिता के पास पिता के पास नहीं थे पैसे रोते-रोते माँ बताई पूरी कहानी…

image 270
Image Credit – Instagram

दोस्तों यूपीएससी जैसे देश के सबसे बड़े लेवल की परीक्षा में सफलता पा लेना आसान बात नहीं है. कहा जाता है की यूपीएससी का परीक्षा पास करना मतलब असंभव को संभव कर देना कुछ ऐसा ही कर दिखाई है हरियाणा की रहने वाली ममता यादव ने.

image 272
Image Credit – Instagram

दोस्तों ममता के जीवन में बहुत संघर्ष आया लेकिन ममता ने कभी हार नहीं मानी और हमेशा अपने जीवन में ममता ने संघर्ष करना चुना कितनी भी मुश्किले क्यूँ न आई लेकिन ममता ने उससे कभी घबराई नहीं बल्कि डटकर उसका मुकाबला की.

image 273
Image Credit – Instagram

ममता बचपन से ही पढने में काफी तेज तरार छात्रा थी और ममता में क आईएएस ऑफिसर वाला सारा गुण दिखाई पड़ता था. ममता अपने बचपन की पढाई गाँव से ही की वहीँ कॉलेज की पढाई उन्होंने देश की राजधानी दिल्ली से किया उसके बाद यूपीएससी की तैयारी में जुट गई और यूपीएससी में 556वीं रैंक लाकर अपने परिवार सहित पुरे समाज का नाम बढ़ाया.

image 271
Image Credit – Instagram

गाँव की पहली बेटी बनी आईएएस पूरा गाँव कर रहा गर्व

image 274
Image Credit – Instagram

सोनू मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले है पिछले 4 साल से डिजिटल पत्रकारिता...