बिहार के इन 12 स्टेशनों को करोड़ो रूपये खर्च कर बनाया जाएगा वर्ल्डक्लास देखिये किस-किस का है लिस्ट में नाम?

भारतीय रेलवे ने नया फरमान जारी किया है | आपको बता दे कि दरअसल भारतीय रेलवे बिहार के 12 स्टेशनों को बनाएगी वर्ल्डक्लास मिलेगी एयरपोर्ट जैसी सुविधा जी हाँ स्टेशन पुनर्विकास परियोजना के तहत विश्वस्तरीय स्टेशन के रूप में विकसित करने के लिए पूर्व मध्य रेलवे के 12 स्टेशनों को चिह्नित किया है।

इसमें सोनपुर मंडल के मुजफ्फरपुर, बेगूसराय एवं बरौनी, समस्तीपुर मंडल के दरभंगा, सीतामढ़ी, बापूधाम मोतिहारी, दानापुर मंडल के राजेंद्रनगर एवं बक्सर, पं. दीन दयाल उपाध्याय मंडल के गया व पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन तथा धनबाद मंडल के धनबाद एवं सिंगरौली का चयन किया गया है।

400 करोड़ की लागत से विकसित होगा मुजफ्फरपुर स्टेशन।

यह भी पढ़ें  दो बड़ी ट्रेनें अर्चना एक्सप्रेस और विक्रमशिला एक्सप्रेस अब आरा जंक्शन पर भी रुकेगी, लोगों को मिलेगी सुविधा !

बता दें कि सभी स्टेशनों के पुनर्विकास की शुरू कर दी गई है। इसे 2024 तक पूरा कर लिया जाएगा। इस योजना के तहत 400 करोड़ की राशि से मुजफ्फरपुर जंक्शन का निर्माण होगा। वर्ष 2024 तक इसकी संरचना दिखने लगेगी। इसका निर्माण कार्य भी 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

लोगों को मिलेगी पहले से बेहतर सुविधा :

स्टेशन को विश्वस्तरीय रूप देते हुए स्टेशनों को अत्याधुनिक सुविधा से सुसज्जित करते हुए स्टेशन को ग्रीन बिल्डिंग का रूप दिया जायेगा, जहां वेंटिलेशन आदि की पर्याप्त व्यवस्था होगी। स्टेशन पर एक्सेस कंट्रोल गेट एवं प्रत्येक प्लेटफार्म पर एस्केलेटर एवं लिफ्ट लगाये जायेंगे, ताकि एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर आने-जाने में यात्रियों को सुविधा हो।

यह भी पढ़ें  Amazon ने बिहार के बेटा अभिषेक को दिया पूरे 1 करोड़ 8 लाख का बड़ा पैकेज, घरों में ख़ुशी का माहोल

यात्रियों को प्रदान की जाने वाली आवश्यक सुविधाओं में खान-पान, वॉशरूम, पीने का पानी, एटीएम, इंटरनेट आदि शामिल होंगे। इससे आम यात्रियों के साथ वरिष्ठ नागरिक विशेष रूप से लाभान्वित होंगे। इसके अतिरिक्त टिकटिंग सुविधा, दिव्यांग अनुकूल सुविधाएं, ग्रीन ऊर्जा के लिए स्टेशन भवन पर सौर पैनल का प्रावधान, रेन वाटर हार्वेस्टिंग का प्रावधान, वाटर री-साइक्लिंग प्लांट, ठोस अशिष्ट प्रबंधन एवं अग्निशमन आदि की व्यवस्था होगी