बिहार में रेलवे इन रूटों पर खर्च करेगा 500 करोड़ रुपया जानिये क्या है रेलवे की पूरी प्लान?

रेलवे बिहार को अपने फील्ड में और मजबूत बनाने के लिए एक और योजना तैयार की है | जी हाँ दोस्तों रेलवे ने अपना फरमान जारी किया है कि वह बिहार में 500 रूपये खर्च करेगी | दरअसल इसमें मैं टॉपिक है रेलवे लाईन का विकाश जल्द से जल्द करना अररिया से सुपौल रेल लाइन का विकाश किया जाएगा | खबर के अनुसार बताया जा रहा है कि साल 2022 से 2023 तक में करीब 500 रूपये रेलवे इन लाइन के विकाश के लिए खर्च कर देगा | इसके विकाश से रेलवे लाइन की कनेक्टिविटी बढ़ेगी | और सबसे अधिक फायदा वहां के स्थानीय लोगों को पंहुचेगी |

यह भी पढ़ें  बिहार में बच्चे ने परीक्षा में उत्तर के बदले लिखा खेसारी लाल का गाना "ऐ राजा छुटता पसीना गर्मी होला, राजा जाई बजारे लेले आई कोको कोला"

दरअसल इस परियोजना के अंतर्गत बता दे कि सुपौल से अररिया के बीच करीब 95 किलोमीटर लम्बा रेलवे लाइन बनाने की योजना है साथ ही अररिया से गलालिया के बीच कुल 111 किलोमीटर लम्बी रेलवे लाइन बनाने की परियोजना है | रेलवे इस पर काम भी शुरू कर दी है | आपको इस पुरे योजना की लागत बता दे कि इस पूरी परियोजना कि लागत करीब 2132 करोड़ रूपये है | जिसमे से अभी तक एक हजार के आस पास खर्च हो पाई है |

और वहीँ सुपौल से लेकर अररिया के बीच में भी कार्य तीव्र गति से चालू है | और उस योजना की कुल लागत 1605 करोड़ की है | इस रेलवे लाइन के बनने के लिए अभी तक 700 से अधिक हेक्टेयर जमीन अधिग्रहण होना है | इस परियोजना में सुपौल से पिपरा के बीच भी काम प्रारंभ हो गया है। उम्मीद है की जल्द से जल्द पूरा हो जाएगा |