काम की बात : आधार वेरिफिकेशन के लिए सरकार ने बनाया है नया नियम, जानिये पूरी खबर…

आधार कार्ड भारतवासी के लिए एक अनिवार्य दास्तावेज है एक तरह से माना जाये तो आधार कार्ड के बिना आदमी के जीवन अधुरा है | इसके बिना आप कोई भी काम नहीं कर पायेंगे | और आधार इससे सम्बन्धित जानकारी के लिए UIDAI समा-समय पर अपनी और से NOTIFICATION जारी करता है | हाल ही में आधार वेरिफिकेशन के लिए एक नया नियम बनाया गया है | आप इस नियम के तहत अपने आधार कार्ड को आधार कार्ड भारत में एक अनिवार्य दस्तावेज है |

इसके बिना देश में कोई भी काम नहीं हो सकता है. UIDAI भी समय-समय पर आधार से संबंधित जानकारियां देती है. आधार वेरिफिकेशन (Aadhaar Verification) को लेकर सरकार ने नया नियम बना दिया है. नियम के तहत आप अपने आधार को ऑफलाइन या बिना किसी इंटरनेटर या ऑनलाइन के भी वेरिफिकेशन कर सकेंगे. अगर आप अब तक इसके बारे में नहीं जानते हैं तो आईये जानते है…..

यह भी पढ़ें  काम की बात : Aadhaar Card में गलत है नाम-पता तो घर बैठे बदल सकते है अपने मोबाइल से जानिये क्या है प्रक्रिया

आधार कार्ड भारत में एक अनिवार्य दस्तावेज है. इसके बिना देश में कोई भी काम नहीं हो सकता है. UIDAI भी समय-समय पर आधार से संबंधित जानकारियां देती है. आधार वेरिफिकेशन (Aadhaar Verification) को लेकर सरकार ने नया नियम बना दिया है. नियम के तहत आप अपने आधार को ऑफलाइन या बिना किसी इंटरनेटर या ऑनलाइन के भी वेरिफिकेशन कर सकेंगे. अगर आप अब तक इसके बारे में नहीं जानते हैं तो जानिए विस्तार से….

क्या है नया नियम?

इस नियम के मुताबिक नियम के अनुसार, वेरिफिकेशन के लिए अब आपको डिजिटल तौर पर हस्ताक्षर किया गया दस्तावेज देना होगा. यह डिजिटली साइन्ड दस्तावेज आधार की सरकारी संस्था यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) की ओर से जारी होना चाहिए. आपको बता दें कि इस दस्तावेज पर यूजर के आधार नंबर के अंतिम चार अक्षर दिए रहते हैं |

यह भी पढ़ें  आधार कार्ड पर बच्चे की नाम की जगह लिखा हुआ था "मधु का पांचवा बच्चा" नहीं हुआ स्कूल में एडमिशन

आधार देता है अधिकार

ऑफलाइन आधार वेरिफिकेशन के प्रकार
ऑफलाइन

  • क्यूआर कोड वेरिफिकेशन
  • आधार पेपरलेस ऑफलाइन ई-केवाईसी वेरिफिकेशन
  • ई-आधार वेरिफिकेशन
  • ऑफलाइन पेपर आधारित वेरिफिकेशन

आधार वेरिफिकेशन के तरीके
ऑनलाइन :

  • डेमोग्राफिक ऑथेंटिकेशन
  • वन-टाइम पिन आधारित ऑथेंटिकेशन
  • बॉयोमेट्रिक आधारित ऑथेंटिकेशन
  • मल्टी फैक्टर ऑथेंटिकेशन