बंद होने की नौबत पर आ गई मुंगेर-खगड़िया ब्रिज, नेता जी के उद्घाटन के 25 दिन बाद ही टूटा करोड़ों रुपए से बना एप्रोच रोड !

दोस्तों विकाशशील बिहार का भी महिमा अपरम्पार है | एक खबर आ रही है की बिहार में हाल ही में बने मुंगेर ब्रिज अब बंद होने की नौबत पर आ गई है | बता दे की बीते 11 फरवरी को बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने केन्द्रीय मंत्री के साथ इस पुल का उद्घाटन किया था ठीक से एक महिना भी नहीं हुआ और 25वें दिन ही करोड़ो की लागत से बने अप्रोच रोड टूट गया |

और वहां से गुजर रहे ट्रक करीब 30 फीट निचे खाई में गिर गया भगवन की कृपा से ट्रक में उपस्थित ड्राईवर और खलासी किसी तरह कूद कर अपनी जान बचाई | इस घटना की होने की वजह से लगभग ३ से 4 घंटे तक वहां की यातायात बाधित रहा | बता दे की यह पुल का निर्माण होने में 20 साल लगा है |

यह भी पढ़ें  पटना हाईकोर्ट ने सहारा प्रमुख सुब्रत राय को 11 मई को पेश होने के दिए आदेश, जानिये कब मिलेगा पैसा?

यह घटना सुबह की लगभग 11 बजे की आस-पास की है | कुछ दे बाद 30 फीट अंदर खाई में गिरे ट्रक को क्रेन की मदद से निकाला गया और NHAI को इस ब्बात की जानकारी दी गई वहीँ अब वहां के स्थानीय लोगों का कहना है की अब इस रास्ते से गुजरना खतरा से खाली नहीं होगा इस रास्ते को जब तक पूरी तरह बना नहीं दिया जाता है तब तक आवागमन बंद कर देनी चाहिए |

ये बाते वहां उपस्थित लोगों का कहना है | वहीँ NHAI के वरीय पदाधिकारी का कहना है की इस घटना में ट्रक की ट्रक की वजह से सडक क्षतिग्रस्त हुई है | उन्होंने कहा कि एप्रोच पथ से बड़े वाहनों का परिचालन बंद है। उन्हें ट्रक नहीं ले जाना चाहिए था। अब वहां पर मूल रूप से दो गार्ड को लगा दिया गया हैं ताकि लोगों को सचेत किया जा सके |

यह भी पढ़ें  बिहार : आज से खत्म हो जायेगी गाँधी सेतु पर जाम की समस्या दोनों लेन पर दौड़ेगी गाड़िया

दरअसल, मुंगेर-खगड़िया रेल-सह-सड़क पुल (श्रीकृष्ण सेतु) का उद्घाटन बीते माह 11 तारीख को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने संयुक्त रूप से किया था। कई स्थानों पर अप्रोच पथ का निर्माण कार्य अभी चल ही रहा है। कई स्थानों पर सिंगल लेन की ही सड़क बनाकर कामचलाऊ परिचालन किया जा रहा है

जानकारी के लिए आपको बता दे की यह गंगा नदी के ऊपर बना ब्रिज लगभग 1500 किलो मीटर लम्बा है | इसका उद्घाटन 11 फरवरी को बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री नितीश कुमार के उपस्थिति में किया गया था | और केन्द्रीय मंत्री नितिन गदकारी वर्चुअल माध्यम से जुड़े थे | इसकी निर्माण में खर्च लगभग 696 करोड़ रूपये आया था | और इसका शिलान्यास आज से लगभग 20 साल पहले साल 2002 में प्रधानमंत्री अटल बिहारी के कार्यकाल में किया गया था | इस पुल के निर्माण होने से इन लोगों को होगा फायदा……

यह भी पढ़ें  बिहार भागलपुर के बच्चे ने बनाया अनोका इलेक्ट्रिक बाइक, 5 रूपए में 50 km का सफ़र, आर्डर के लिए लगी लाइन

इन लोगों को होगा अधिक फायदा

सेगोगरीजमालपुर,महेशखूंट,बल्लीअल्खाम्न्निया,लखीसराय,जमुई,बेगुसराय,भागलपुर,समस्तीपुर,बांका ,गोड्डा ,नौगछिया ,बिहारशरीफ ,कटिहार,पूर्णिया,धनबाद ,हजारीबाग ,बोकारो,पटना ,आरा , छपरा, सहित बिहार के तमाम लोगों को फायदा होगी |