2023 तक बिहार को मिलेगा एक और पावर प्लांट का सौगात 1000 मेगावाट से अधिक मिलेगी बिजली !

बिहार के लोगों को अब आवश्कता के अनुसार मिल रही है बिजली | जी हाँ दोस्तों अब बिहार बिजली उत्पादन के मामले में पूरी तरह संपन्न हो चुकी है | बता दे कि मांग के अनुरूप बिजली राज्य में ही उपलब्ध हो जा रही है। इसके अतिरिक्त बिहार दुसरे राज्य को भी दे रही है बिजली वहीं अगले साल से राज्य को और भी ज्यादा बिजली मिलने लगेगी क्योंकि बक्सर जिले के चौसा में एक और पावर प्लांट शुरू होने जा रहा है। इससे 50% बिजली बिहार को ही मिलेगी।

बिहार को भरपूर मिलेगी बिजली

जानकारी के मुताबिक आपको बता दे कि वित्तीय वर्ष 2022-23 में ऊर्जा विभाग का बजट 11475.97 करोड रुपए है। बजट के मुताबिक चौसा बक्सर के 660 मेगावाट की दो इकाइयों से वित्तीय वर्ष 2023 -24 में वाणिज्यिक उत्पादन प्रारंभ करने का लक्ष्य रखा गया है। इससे 85% बिजली बिहार को मिलेगी। यानी कि बिहार को 1000 मेगावाट से अधिक बिजली मिलेगी।

यह भी पढ़ें  बिहार में बच्चे ने परीक्षा में उत्तर के बदले लिखा खेसारी लाल का गाना "ऐ राजा छुटता पसीना गर्मी होला, राजा जाई बजारे लेले आई कोको कोला"

राज्य में ढाई-ढाई सौ के मेगावाट के दो सौर ऊर्जा परियोजनाएं लगाई जाएंगी। फिलहाल राज्य में 154 ग्रेड उपकेंद्र जिनकी संख्या वर्ष 2022- 23 तक बढ़ाकर 176 की जाएगी। साथ ही 200 मेगा वाट ग्रिड कनेक्टेड ग्राउंड माउंटेड सोलर पावर प्लांट की स्थापना प्रक्रियाधीन है। इसके अलावा राज्य के शहरी और ग्रामीण निजी आवासीय भवनों में 113 भवनों पर 583 किलोवाट क्षमता के ग्रिड कनेक्टेड सोलर पावर प्लांट की स्थापना की जा रही है।

साभार :- bihar news now