शराब बेचने वाले को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चेताया, बोले – ड्रोन सब देख रहा हो जाओ सावधान !

बिहार की राजधानी पटना स्थित बापू सभागार में पटना व नालंदा जिले के आयोजित समाज सुधार अभियान में रविवार को मुख्यमंत्री ने शराब के धंधेबाजों को चेताया कि वे लोग बचेंगे नहीं। ड्रोन से सभी की तस्वीर ली जा रही। वर्तमान में 26 ड्रोन इस काम में लगे हैं। ड्रोन हेलीकाप्टर भी आ गया है। गड़बड़ी करने वालों पर पूरी निगाह रहेगी। यही नहीं बालू माफिया पर भी ड्रोन के माध्यम से नजर रखी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने ये भी वहां बोले की अपने कुछ लोग काबिल समझते है लेकिन वो लोग वास्तव में काबिल नहीं है | अगर शराब के पक्ष में कोई है तो वह गड़बड़ प्रवृत्ति का आदमी है। जो दारू पीता है उससे खराब कोई काम नहीं। और उन्होंने लास्ट में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की भी याद दिलाई बोले की बापू ने देश की आजादी दिलाई बापू भी शराब जैसे गंदे चीजो के खिलाफ थे |

यह भी पढ़ें  Indian Railway : रेवले ने बदले कई ट्रेन के रूट अब 25 जून से छपरा से होकर गुजरेगी सप्तक्रांति एक्सप्रेस

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले दिनों जब जहरीली शराब से कुछ लोगों की मौत हो गई तो कुछ का कुछ बोलने लगे लोग। पता नहीं किस तरह के लोग हैैं। कुछ लोग शराबबंदी को फेल कहते हुए इसे खत्म करने की मांग करने लगे। जहरीली शराब के धंधेबाजों को पूर्व में भी सजा मिली है। बच नहीं सकेंगे। यह मान लीजिए कि शराब पीना आपको मौत दिला सकता है। यह भी सच है कि समाज में चंद लोग गड़बड़ करने वाले होते ही हैं। सभी लोग कभी ठीक नहीं हो सकते। दस प्रतिशत लोग ही गड़बड़ी करते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की रिपोर्ट का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि शराब के कारण 2016 में एक साल के भीतर 30 लाख लोगों की मौत हुई। शराब के कारण टीबी, एचआइवी तथा मधुमेह से होने वाली मृत्यु से भी अधिक लोग मरते हैैं। शराब दो सौै प्रकार की बीमारियों को बढ़ाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस समय शराबबंदी लागू हुई उस समय यह बात भी उठी कि बिहार में आने वाले पर्यटकों की संख्या कम हो जाएगी, पर यहां बाहर से आने वाले पर्यटकों की संख्या भी बढ़ गई।