बिहार की बेटी संप्रीति यादव को गूगल ने 1.10 करोड़ का सालाना पैकेज ऑफर किया मिली नौकरी जानिये

जिनमें टैलेंट और हौसला होता है, उन्हें आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता. इस बात को सच कर दिखाया है बिहार की राजधानी पटना की रहने वाली संप्रीति (Sampriti Yadav Get Google Job) ने सफलता की नई ऊंचाइयों को छूआ है. बिहार की बेटी संप्रीति यादव की सफलता की कहानी जान सभी उसकी तारीफ करते नहीं थक रहे. संप्रीति आज दूसरों बच्चों के लिए प्रेरणास्रोत बन चुकी है. दरअसल पटना के नेहरू नगर में रहने वाले बैंक अधिकारी रामाशंकर यादव और शशिप्रभा की बेटी संप्रीति यादव को गूगल ने 1.10 करोड़ रुपये (Patna Girl RS 1 Crore Annual Package) का सालान पैकेज दिया है |

यह भी पढ़ें  बिहार के इस जिला में चल रहा था अवैध रूप से बालू की बिक्री पुलिस ने मारी छापा छह ट्रक बरामद, ड्राईवर खलासी फरार

14 फरवरी से होगा काम शुरू :

आपको बता दे की होनहार संप्रिति ने सबसे अच्छा और सबसे बड़े पैकेज ऑफर करने वाली गूगल की नौकरी स्वीकार की. गूगल (Google) में 9 राउंड तक चले लंबे इंटरव्यू में संप्रीति ने सभी सवालों के सटीक उत्तर दिए. जिसके बाद दुनिया की इस दिग्गज कंपनी ने संप्रिती यादव को 1.10 करोड़ का सालाना पैकेज का ऑफर किया. संप्रीति 14 फरवरी से गूगल में काम करना शुरू करेंगी. बता दें कि, संप्रीति को इससे पहले माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft)ने भी नौकरी का ऑफर दिया था.

9 राउंड के लंबे इंटरव्यू के बाद ऑफर हुई नौकरी :

जानकारी के लिए बता दे की गूगल में अपने सलेक्शन के बारे में जानकारी देते हुए संप्रीति ने बताया कि, गूगल की टीम की तरफ से ऑनलाइन 9 राउंड का इंटरव्यू लिया गया. मैंने इंटरव्यू के लिए कड़ी मेहनत की थी. सभी राउंड में मेरे जवाब से गूगल के अधिकारी संतुष्ट हो गए. जिसके बाद मुझे यह नौकरी ऑफर की गई.

यह भी पढ़ें  बिहार में मौसम ने बदला मिजाज, इन जिलों में बारिश के आसार, विमान सेवाएं हुई बंद

जीवन में बड़ा करने के लिए तय करें लक्ष्य :

खास बात यह है की संप्रीति यादव ने अपनी सफलता के बारे में बात करते हुए कहा कि, अगर आप कुछ बड़ा करना चाहते हैं तो पहले अपना लक्ष्य तय करें और फिर उसके हिसाब से तैयारी करें. अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको सफलता निश्चित ही मिलेगी. आपको बता दें कि संप्रीति यादव बिहार की राजधानी पटना में नेहरू नगर की रहने वाली हैं. उनके पिता रमाशंकर यादव बैंक अधिकारी हैं. संप्रीति ने न केवल बिहार बल्कि देश का नाम भी रोशन किया है.