बिहार के गरीब बच्चों को फ्री में करवाया जाएगा IIT-NEET की तैयारी, IPS ऑफिसर विकाश वैभव ने किया एलान

बिहार : बिहार अन्य राज्यों की अपेक्षा काफी पिछड़ा हुआ राज्य है, बिहार के चर्चित आईपीएस अफसर विकास वैभव (IPS Vikas Vaibhav) अपने काम से युवाओं में काफी प्रसिद्ध हैं. वो लगातार जगह-जगह युवाओं को प्रेरित करते रहते हैं. हाल ही में उन्होंने ‘लेट्स इंस्पायर बिहार’ (Let’s Inspire Bihar) नाम की मुहिम चलायी है जिसके जरिए वो बिहार के युवाओं (Bihar Youth) को राज्य के लिए कुछ करने और सोचने के लिए प्रेरित कर रहे हैं | विकाश वैभव को आज हर कोई जानता है |

इसी क्रम में आईपीएस विकास वैभव गरीब और वंचित परिवारों से आने वाले बच्चों को मुफ्त में IIT और NEET परीक्षा की तैयारी करवाने की मुहिम शुरू करने जा रहे हैं. विकाश वैभव ऐसे बच्चों को शिक्षा देते है जो इस तरह के उच्च शिक्षा पाने के लिए फीश देने में असमर्थ हो | बिहार (Bihar) के 80 गरीब बच्चों को फ्री में इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी करवाई जाएगी.

यह भी पढ़ें  बीपीएससी के प्रश्न पत्र लीक होने के बाद आया जांच कमिटी का फैसला, 1087 केंद्रों पर आयोजित थी परीक्षा

दरअसल आर्थिक रुप से कमजोर बच्चों को ‘आइये प्रेरित करें बिहार’ (लेट्स इंस्पायर बिहार) मुहिम के तहत इंजीनियरिंग और मेडिकल (IIT और NEET) की प्रवेश परीक्षा की तैयारी करवाई जाएगी. गृह विभाग के विशेष सचिव आईजी विकास वैभव ने इस मुहिम की शुरुआत की है. विकास वैभव ने बताया कि पहले फेज में राजधानी पटना और भागलपुर में बच्चों के लिए यह व्यवस्था की गई है.

दोनों जगह 40 बच्चों का हॉस्टल बनकर तैयार है जहां खाना-पीना और कोचिंग की मुफ्त व्यवस्था होगी. बिहार के सभी जिलों में 27 फरवरी को इसके लिए परीक्षा का आयोजन होगा जिसमें सफल होने वाले 40-40 बच्चों को इस मुहिम के तहत मुफ्त में प्रवेश परीक्षा की तैयारी करवाई जाएगी.

यह भी पढ़ें  यात्रिगन कृपया ध्यान दे ! बाबानगरी देवघर जाने के लिए चालू हुआ समर स्पेशल ट्रेन, जानिये टाइम टेबल

आईजी विकास वैभव ने बताया कि यह परीक्षा हर जिले में होगी। छात्रों को https://forms.gle/dERMzt4wkk2SdS46A  लिंक पर जाकर फॉर्म भरना होगा। फॉर्म में पूरी जानकारी देने के बाद परीक्षा लेने वाली टीम उनसे खुद ही संपर्क कर लेगी। फॉर्म में छात्रों को सही जानकारियां भरनी होंगी। 

‘लेट्स इंस्पायर बिहार’ मुहिम में कोई भी छात्र हो सकता है शामिल
उन्होंने कहा कि ‘लेट्स इंस्पायर बिहार’ के लोग बच्चों के घर जाकर उनका सत्यापन करेंगे. इस परीक्षा में राज्य का कोई भी छात्र शामिल हो सकता है. लेकिन, वित्तीय रूप से कमजोर व प्रतिभावान छात्रों का ही चयन होगा.