बिहार में आज से खुल गई स्कूल कॉलेज बिना मास्क के नहीं मिलेगी एंट्री

अभी-अभी : बिहार में करीब महीने भर से महामारी को देखते हुए स्कूल को बंद किया गया था | अब वर्तमान स्थिति को देखते हुए गृह विभाग की नयी गाइडलाइन के अनुसार स्कूलों में आठवीं तक के बच्चों की 50% उपस्थिति के साथ ऑफलाइन क्लास चलेगी, जबकि कक्षा 9वीं से 12वीं तक की क्लास शत प्रतिशत उपस्थिति के साथ शुरू की जायेगी. स्कूलों की ओर से सभी बच्चों की थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन के बाद ही स्कूल में एंट्री दी जायेगी |

बिना मास्क के नहीं मिलेगी एंट्री

सभी बच्चे एवं शिक्षक को मास्क लगाना जरूरी है बिना मास्क के नहीं मिलेगी एंट्री

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : अब नहीं फैलेगा पटना में प्रदुषण नहीं चलेगा डीजल से चलने वाला एक भी बस या ऑटो

कोरोना की नयी गाइडलाइन के बाद सोमवार को कैंपस पूरी सौ फीसदी उपस्थिति के साथ खुल जायेंगे. छात्र-छात्राएं कैंपस में पहले की ही तरह पढ़ायी कर पायेंगे. हालांकि, रविवार होने की वजह से सोमवार को ही सभी उच्च शिक्षण संस्थान अपनी अधिसूचना जारी करेंगे. इस संबंध में पटना विश्वविद्यालय के स्टूडेंट्स वेलफेयर डीन प्रो अनिल कुमार ने बताया कि सरकार के गाइडलाइन का अक्षरश: पालन किया जायेगा. कैंपस वैसे भी खुला है. हालांकि सरकार के बाद एक औपचारिक अधिसूचना विवि के द्वारा सोमवार को जारी किया जायेगा.

डॉन बॉस्को में कक्षा चार से 12वीं की क्लास शुरू होगी
डॉन बॉस्को में कक्षा चार से 12वीं की क्लास शुरू कर दी जायेगी. संत जोसेफ कॉन्वेंट हाइस्कूल में कक्षा 9वीं से 12वीं के बच्चों की ऑफलाइन क्लास शुरू कर दी जायेगी. क्लास की टाइमिंग सुबह 9 बजे से लेकर दोपहर 12 बजे तक होगी. वहीं कक्षा छह से आठवीं के बच्चों की ऑफलाइन क्लास 14 फरवरी से शुरू की जायेगी. इसके अलावा संत कैरेंस हाइ स्कूल में कक्षा एक से पाचवीं के बच्चों की क्लास सोमवार से खुलेगी. वहीं मंगलवार से सीनियर वर्ग के बच्चों की ऑफलाइन क्लास शुरू हो जायेगी. वहीं संत डोमेनिक सेवियोज, डीएवी में भी कक्षा एक से 12वीं के बच्चों की क्लास मंगलवार से खुलेगी.

  • आठवीं कक्षा तक के सभी विद्यालय व कोचिंग संस्थान 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे
  • नवीं और उससे ऊपर के स्कूल, कॉलेज व कोचिंग में शत-प्रतिशत उपस्थिति के साथ पढ़ाई होगी
  • स्कूल-कॉलेज और कोचिंग संस्थानों के कार्यालय और छात्रावास पूरी क्षमता के साथ संचालित होंगे
  • नियोजन के लिए सभी तरह की परीक्षाओं के साथ विभिन्न विद्यालय व बोर्डों द्वारा आयोजित परीक्षाएं भी होंगी
यह भी पढ़ें  बिहार में आलू के खेत से निकल रहा हैं सोना के सिक्का, पूरा खेत में लोग खोज रहे सिक्के जांच में जुटी पुलिस