खुशखबरी : स्टेट बैंक के ग्राहकों को मुफ्त में मिलेगा दो लाख रुपये, जानिए क्या है स्कीम

अगर आज कोई बैंक के बारे में चर्चा होती है तो उसमे स्टेट बैंक की नाम सबसे ऊपर आती है | आईये आज हम आपको इस खबर में स्टेट बैंक के बारे में कुछ अहम् बात बताते है जी हाँ दोस्तों अगर आपक भी खता स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में है तो आपके लिए ये खबर बहुत जरूरी है | दरअसल एसबीआई अपने ग्राहकों को कम से कम 2 लाख रुपये तक का फायदा पहुंचा रहा है. जिसके लिए अलग से कोई शुल्क भुगतान नहीं करना होगा।

आईये जानते है इस बिमा का लाभ किसको मिलेगा

जानकारी के अनुसार भारतीय स्टेट बैंक ने 28 अगस्त, 2018 से पहले अपना खाता खोलने वाले ग्राहकों के लिए 1 लाख रुपये तक बीमा राशि निर्धारित की है, जबकि इस तिथि के बाद जनधन खाता खुलवाने वाले ग्राहक 2 लाख रुपये तक की एक्सीडेंटल डेथ कवरेज का लाभ उठा सकते हैं |

यह भी पढ़ें  पेट्रोल-डीजल के बाद कम हुआ खाने के तेल का दाम बचेंगे प्रतिमाह 2 हजार जानिये क्या है ताजा भाव?

परन्तु बता दे की इसके तहत वही खाताधारक लाभान्वित हो सकेंगे, जो RuPay डेबिट कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस डेबिट कार्ड के साथ दो लाख रुपये का मुफ्त दुर्घटना बीमा मिलेगा। सभी बैंक ग्राहकों को जन-धन खाता खोलने के बाद अलग-अलग अवधि के मुताबिक बीमा की राशि तय की जाएगी।

इसमें वैसे खाताधारकों या ग्राहकों को एक लाख रुपये ही मिलेंगे, जिन्होंने प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाइ) के तहत 28 अगस्त 2018 से पहले खाता खोला था। वहीं जिन लोगों ने इस अवधि के बाद खाता खोला है, उन्हें दो लाख रुपये दुर्घटना बीमा का लाभ मिलेगा।

इसमें खास बात यही है कि इसके एवज में बैंक कोई शुल्क या प्रीमियम नहीं लेगा। बता दे की इसका उद्देश्य विभिन्न वित्तीय सेवाएं प्रदान करना है, जैसे मूल बचत बैंक खाते की उपलब्धता, आवश्यकता आधारित ऋण तक पहुंच, प्रेषण सुविधा, बीमा और पेंशन को बहिष्कृत वर्गों या कम आय वाले लोगों को प्रदान करना.

यह भी पढ़ें  Post Office की शानदार स्कीम! 10 वर्ष से ऊपर बच्चों का खाता खोलें, हर महीने मिलेंगे 2475 रूपये, जानिए....

योजना का उदेसय

दरअसल इस योजना का स्वदेश यह है की प्रधानमंत्री जनधन योजना (पीएमजेडीवाई) का उद्देश्य विभिन्न वित्तीय सेवाओं जैसे बुनियादी बचत बैंक खाते की उपलब्धता, आवश्यकता आधारित क्रेडिट तक पहुंच, प्रेषण सुविधा, बीमा और पेंशन से वंचित वर्गों यानी कमजोर वर्ग और निम्न तक पहुंच सुनिश्चित करना है