अच्छी खबर : नए साल से राजधानी पटना में बन रहे मेट्रो के निर्माण में आएगी तेजी, जमीन के लिए दिए 500 करोड़ रुपये |

बिहारवासियों के लिए बड़ी खुशखबरी है | बिहार सरकार ने पटना मेट्रो रेल प्रोजेक्‍ट के लिए जमीन अधिग्रहण को लेकर 500 करोड़ रुपये स्‍वीकृत किए हैं. इस राशि से मेट्रो ट्रेन के कोच के लिए 76 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा. बताया जा रहा है कि किसानों/भूस्‍वामियों को जनवरी 2022 से जमीन का मुआवजा देने का सिलसिला भी शुरू हो जाएगा | और काम को पहले की अपेक्षा और तीव्र गति से किया जाएगा |

नए साल से पटना मेट्रो रेल परियोजना के निर्माण कार्य में तेजी आने की संभावना है. सबसे पहले किसानों/भूस्‍वामियों से दावे और आपत्तियों के लिए आवेदन लिए जाएंगे. पटना मेट्रो ट्रेन प्रोजेक्‍ट बिहार सरकार की महत्‍वाकांक्षी परियोजना है | एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) और यूरोपियन यूनियन बैंक ने भी पटना मेट्रो में निवेश को लेकर प्रपोजल दिया है।

यह भी पढ़ें  बिहार में बस और ऑटो का सफ़र होगा और महंगा किराए में होगा 30% की बढ़ोतरी, आम लोगों पर पड़ेगा सीधा असर

पटना मेट्रो के प्रायोरिटी कॉरिडोर (मलाही पकड़ी से आइएसबीटी) को दिसंबर 2022 तक तैयार करने का लक्ष्य है। मेट्रो के दोनों रूट मिला कर 26 स्टेशनों का निर्माण होना है। फिलहाल मेट्रो के एलिवेटेड रूट पर ही काम हो रहा है। लेकिन, वर्ष 2022 में अंडरग्राउंड रूट पर भी काम शुरूहोजायेगा। डिपो जमीन के अधिग्रहण के बाद विदेशी कर्जकी प्रक्रिया पूरीहोती है।

कहाँ चल रहा है अभी काम ?

पटना मेट्रो का काम फिलहाल कंकड़बाग के मलाही पकड़ी से पाटलिपुत्र आईएसबीटी तक करीब 6 . 6 किलोमीटर एलिवेटेड रूट पर चल रहा है. इस रूट में मेट्रो के 5 स्टेशन मलाही पकरी, खेमनीचक, भूतनाथ, जीरोमाइल और आईएसबीटी होगा. फिलहाल पिलर ढलाई का काम जोरों से चल रहा है. इस रूट पर दिसंबर 2022 तक काम पूरा किए जाने का लक्ष्य पहले से निर्धारित किया गया है. इसके बाद विद्युतीकरण और दूसरे काम किए जाने हैं |

यह भी पढ़ें  बिहार के छपरा में 70 साल के दादाजी ने की धूम-धाम से दूसरी शादी, बेटा पोता नाती बने बाराती