खराब विमान को लैंड कराने वाले से नहीं हो सकती चूक, कैप्टन वरुण के लिए प्रार्थना कर रहे लोग…

कुछ दिन पहले एक घटना हुआ जो पूरा देश को एक सदमा में डाल दिया जी हाँ दोस्तों हम बात कर रहे है | हेलिकॉप्टर हादसे में गंभीर रूप से घायल शौर्य चक्र विजेता ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के लिए भोपाल में उनके पड़ोसी प्रार्थना कर रहे हैं। इसमें कई संगठन भी है। पड़ोसियों का कहना है उन्हें ये अवॉर्ड फ्लाइंग कंट्रोल सिस्टम खराब होने के बाद भी 10 हजार फीट की ऊंचाई से विमान की सफल लैंडिंग कराने पर दिया गया था। इसलिए वे कोई चूक कर ही नहीं सकते हैं। वह डेयरडेविल हैं और जल्द स्वस्थ होकर वापस आएंगे।

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : भारत का तीसरा फूड प्रोसेसिंग यूनिवर्सिटी खुलेगा बिहार में, राज्य के युवाओं और किसानों मिलेगा लाभ

भारत माता के वीर सपूत वरुण सिंह के पिता रिटायर्ड कर्नल केपी सिंह भोपाल में एयरपोर्ट रोड पर रहते हैं। यहां सनसिटी कॉलोनी के इनरकोर्ट अपार्टमेंट की 5वीं मंजिल पर उनका घर है। करीब दो सप्ताह पहले वरुण सिंह भोपाल आए थे और 10 दिन तक रहे थे। इस दौरान सभी पड़ोसियों ने उन्हें शौर्य चक्र मिलने पर खूब बधाइयां दी थी। फिलहाल उनके पिता तमिलनाडु पहुंच चुके हैं। पड़ोसी रिटायर्ड कर्नल संजीव पंडित ने बताया कि वरुण की शादी का रिसेप्शन भोपाल में हुआ था।

पंचत्तव में विलीन हो गए बिपिन रावत सर दिया गया 17 तोपों की सलामी :

यह भी पढ़ें  धड़ल्ले से बिक रहा 400 रुपये का मिनी एसी, मिनटों में घर कर देगा कूल, साइज़ भी है छोटा

शुक्रवार शाम जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन हो गईं। जनरल रावत और उनकी पत्नी के पार्थिव शरीर एक ही चिता पर रखे गए। श्‍मशान घाट पर लोगों का हुजूम मौजूद था। लगभग 800 सैन्यकर्मियों के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कानून मंत्री किरेन रिजिजू, भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन और भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस भी भारत के पहले सीडीएस के अंतिम संस्कार के समय मौजूद थे।