विदेशों में तेल के कीमतों में गिरावट के बीच सरसों, मूंगफली तेल-तिलहन, सोयाबीन तेल के भाव टूटे जाने दाम

विदेशी बाजारों में गिरावट के बीच देशभर के तेल-तिलहन बाजारों में बुधवार को सरसों, मूंगफली तेल-तिलहन और सोयाबीन तेल कीमतों में गिरावट रही, जबकि मांग होने से सोयाबीन तिलहन के भाव अपरिवर्तित रहे। बाकी तेल-तिलहन के भाव भी पूर्वस्तर पर बने रहे। बाजार सूत्रों ने कहा कि मलेशिया एक्सचेंज में 1.65 प्रतिशत की गिरावट थी, जबकि शिकॉगो एक्सचेंज कल रात की गिरावट के बाद फिलहाल लगभग 2.75 प्रतिशत नीचे चल रहा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सोयाबीन के किसान नीचे भाव में अपनी फसल बेचने से बच रहे हैं जिससे सोयाबीन दाना एवं लूज के भाव में सुधार आया। उन्होंने कहा कि पामोलीन के मुकाबले सोयाबीन जैसे हल्के तेलों के सस्ता होने से पामोलीन की मांग प्रभावित हुई है। इस वजह से सीपीओ और पामोलीन तेल कीमतें नरमी के साथ बंद हुई। उन्होंने कहा कि हल्के तेलों के मुकाबले पामोलीन का आयात करना महंगा सौदा बैठता है।

यह भी पढ़ें  SBI के ग्राहकों के लिए बड़ी खुशखबरी! घर बैठे जल्दी करें ये काम, टैक्स में मिलेगी भयंकर छूट

बाकी तेल-तिलहनों के भाव अपरिवर्तित रहे।

बाजार में थोक भाव इस प्रकार रहे- (भाव- रुपये प्रति क्विंटल)

  • सरसों तिलहन – 8,800 – 8,825  (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपये।
  •    मूंगफली – 5,700 –  5,785 रुपये।
  •      मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात)- 12,500 रुपये।
  •      मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 1,840 – 1,965 रुपये प्रति टिन।
  •      सरसों तेल दादरी- 17,150 रुपये प्रति क्विंटल।
  •      सरसों पक्की घानी- 2,640 -2,665 रुपये प्रति टिन।
  •      सरसों कच्ची घानी- 2,720 – 2,830 रुपये प्रति टिन।
  •      तिल तेल मिल डिलिवरी – 16,700 – 18,200 रुपये।
  •      सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 13,000 रुपये।
  •      सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 12,750 रुपये।
  •      सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 11,620
  •      सीपीओ एक्स-कांडला- 11,000 रुपये।
  •      बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 11,900 रुपये।
  •      पामोलिन आरबीडी, दिल्ली-  12,600 रुपये।
  •      पामोलिन एक्स- कांडला- 11,500  (बिना जीएसटी के)।
  •      सोयाबीन दाना 6,500 – 6,600, सोयाबीन लूज 6,350 – 6,400 रुपये।
यह भी पढ़ें  इस होली आपके जेब पर पड़ने वाला है भारी असर सरसों तेल के दाम पर होगा 30 फीसदी बढ़ोतरी !