अच्छी खबर :- केंद्र से बिहार को मिला सौगात सासाराम से आरा के रास्‍ते पटना की दूरी महज ढाई घंटे में होगी पूरी, होगा फोरलेन का निर्माण…

सासाराम-आरा से पटना आने-जाने वालों के लिए अच्छी खबर है। अभी सासाराम से पटना के सफर में पांच से छह घंटे लगते हैं, लेकिन अगले कुछ सालों में यह दूरी महज ढाई घंटे की रह जाएगी। अगर सब कुछ सही रहा तो नए साल 2022 के अंत तक पटना से आरा होते हुए सासाराम जाने के लिए फोरलेन सड़क का निर्माण शुरू हो जाएगा। इसकी प्रक्रिया तेज हो गई है। भोजपुर जिले में जमीन अधिग्रहण की प्रारंभिक कार्रवाई पूरी कर ली गई है।

पंचायत चुनाव के बाद यानी 31 दिसंबर तक तैयार रिपोर्ट को एनएचएआइ (NHAI) के पटना कार्यालय भेज दी जाएगी। फोरलेन के लिए 40 गांवों की कुछ-कुछ जमीन ली जाएगी। पीरो, तरारी, गड़हनी, चरपोखरी एवं उदवंतनगर अंचलाधिकारी ने खाता, खेसरा व रकबा की विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर ली है। वहीं, जमीन की प्रकृति की रिपोर्ट भू-अर्जन विभाग ने तैयार की है।

यह भी पढ़ें  बिहार : क्या आपके खाते में नहीं आ रहे एलपीजी गैस के सब्सिडी का पैसा? जानिये कहाँ है त्रुटी !

अधिकारियों के अनुसार पटना से आरा होते हुए सासाराम जाने वाली यह सड़क छह व चार लेन की होगी। यानी पटना से आरा तक यह सड़क छह लेन होगी तो आरा से सासाराम तक यह सड़क चार लेन की होगी। वैसे तो इस सड़क का अंतिम एलाइनमेंट अभी तय नहीं हुआ है, लेकिन प्रारम्भिक आकलन के अनुसार पटना जिले में यह सदीसोपुर-नौबतपुर के बीच से शुरू होगी। इसके बाद यह अरवल होते हुए सोन नदी पार कर भोजपुर के सहार में पहुंचेगा।

सोन नदी पार करने के क्रम में एक छह लेन का पुल भी बनेगा। सहार से यह सड़क बागड़-गड़हनी मौजूदा सड़क से गुजरेगी। इसके बाद यह पीरो, हसन बाजार, गड़हनी, विक्रमगंज, नोखा, संझौली होते हुए सासाराम से आगे सुअरा में जाकर एनएच दो यानी वाराणसी जाने वाली सड़क से जुड़ेगी। 

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : नए साल से राजधानी पटना में बन रहे मेट्रो के निर्माण में आएगी तेजी, जमीन के लिए दिए 500 करोड़ रुपये |

और वहीँ सासाराम और आरा मार्ग से पटना, अरवल, भोजपुर, रोहतास व सासाराम जिले को जोड़ा जाएगा | बता दे की इससे ज्यदा लाभ बिहार के नौबतपुर, अरवल, सहार, नोखा, हसन बाजार, पीरो, नोखा व संझौली वाले लोगों को मिलेंगे | यह सड़क बन जाने से  पटना से भोजपुर, अरवल, रोहतास, सासाराम होते हुए वाराणसी तक का सफ़र सुहाना हो जाएगा |

सड़क की खासियत :

  •  130 किलोमीटर लंबी होगी यह सड़क
  • – 06 व चार लेन चौड़ी सड़क बनाई जाएगी
  • – 06 लेन का एक पुल सोन नदी पर बनेगा
  • – 3500 करोड़ इस परियोजना पर होगा खर्च