बिहार : राजधानी पटना में स्थित गाँधी सेतु के समांतर बनेगा नया पुल पथ निर्माण मंत्री ने किया एलान दो साल में बनकर होंगे तैयार…

बिहार वासिओ को बड़ी सौगात मिलनेवाली है दोस्तों बता दे की बिहार की राजधानी पटना स्थित महात्‍मा गांधी सेतु पुल के समांतर नये पुल का निर्माण तय सीमा में ही पूरा किया जाएगा। इसके लिए काम शुरू हो चुका है। पुल का निर्माण 42 महीने में पूरा करने का लक्ष्‍य है। ये बातें पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडे और प्रदेश के पूर्व पथ निर्माण मंत्री सह स्थानीय विधायक नंदकिशोर यादव ने बुधवार की सुबह पुल निर्माण स्‍थल का निरीक्षण करने के दौरान कहीं।

दोनों नेता बुधवार की सुबह ही पटना सिटी के गायघाट पहुंचे। गांधी सेतु के बगल में बनने वाले नए पुल के निर्माण कार्यों का दोनों ने जायजा लिया। पुल निर्माण कंपनी द्वारा गायघाट में बनाए गए कार्यालय सह कंट्रोल रूम का भी उन्होंने मुआयना किया। पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि महात्मा गांधी सेतु के पश्चिम में बनने वाले फोरलेन के सेतु का निर्माण कार्य आरंभ हो चुका है।

यह भी पढ़ें  बिहार : PMCH को वर्ल्डक्लास अस्पताल बनाने की काम हो रही तीव्र गति से जल्द होगा पूरा !

पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि महात्मा गांधी सेतु के समानांतर गंगा पर बनने वाला फोरलेन पुल बिहार के विकास में बड़ी मजबूत कड़ी साबित होगा। 1800 करोड़ रुपए से बनने वाला यह पुल 42 महीनों में तैयार कर लेने का लक्ष्‍य है। उत्तर और दक्षिण बिहार को जोड़ने वाले इस पुल से यातायात व्यवस्था सुगम हो जाएगी। विकास की रफ्तार तेज होगी। उन्होंने कहा कि बिहार आत्मनिर्भर बनने के लिए तेजी से प्रगति के पथ पर अग्रसर है।

8 लेन का एप्रोच रोड भी :-

नए पुल के साथ 8 लेन का एप्रोच रोड भी होगा, जो पटना के जीरो माइल से शुरू होकर हाजीपुर (वैशाली) के बीएसएनएल चौक तक जाएगा। प्रस्तावित पुल परियोजना एवं उसका एप्रोच रोड पटना के अलावा सारण और वैशाली जिले के अंतर्गत पड़ता है। पुल का निर्माण कार्य साढ़े तीन साल में पूरा होगा।

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : पटना जंक्शन पर लाइन में लगने का झंझट होगा खत्म, दिल्ली मेट्रो जैसे ले सकेंगे ट्रेन की टिकट