बिहार मुखिया चुनाव डेट पर बड़ा ऐलान, आयोग ने कहा-एक आध महीने में कभी भी लागू हो जाएगा अचार संहिता

आयोग ने सभी डीएम को चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार रहने के लिए कहा है। तैयारियों को ध्यान में रखकर आयोग ने सभी डीएम को निर्देश दिया है कि वे पिछली बैठकों में दिए गए निर्देशों की अनुपालन रिपोर्ट आयोग को जल्द उपलब्ध करा दें। आयोग ने पंचायत चुनाव की तैयारियों को लेकर शनिवार को सभी जिलों के डीएम के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग की। इसमें ईवीएम के रखरखाव से लेकर आदर्श मतदान केंद्र चिह्नित करने तक के निर्देश दिए गए।

आयोग ने कहा कि ईवीएम पर बार कोड चिपकाकर उसकी स्कैनिंग और स्टॉक इंट्री का काम तीन दिनों के भीतर पूरा कर लें। अलग-अलग राज्यों से मंगाई गई ईवीएम को अलग-अलग रखने की व्यवस्था करने को कहा गया। साथ हर ईवीएम पर स्टीकर चिपकानी है कि वह किस राज्य की है,

ताकि चुनाव के बाद लौटाने में आसानी हो। अगर कोई ईवीएम खराब है तो उस पर डिफेक्टिव का स्टीकर लगाना है। वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के दौरान यह मामला भी उठा कि एक ही इवीएम का नंबर एक से अधिक जिलों में हुआ है। एक ईवीएम का नंबर दो जिलों में प्रदर्शित हो रहा है। इस तकनीकी गड़बड़ी को 3 अगस्त तक ठीक कर लेने का निर्देश दिया गया।

दस चरणों में वोटिंग कराने की तैयारी
बिहार में पंचायत का चुनाव 10 चरणों में होगा। इसके लिए सभी जिलों से चरणवार प्रखंडों की सूची मंगा ली गई है और उसके अनुसार ही कार्यक्रम तय किए जा रहे हैं। इस बार राज्य में पंचायत का चुनाव ईवीएम और बैलेट बॉक्स दोनों से होना है।

प्रखंड की बजाय जिलास्तर पर एक साथ काउंटिंग की व्यवस्था पर मांगा विचार
आयोग ने सभी डीएम को कहा कि नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा नवगठित, उत्क्रमित और सीमा विस्तारित नगर पालिका के कारण जो परिवर्तन हुआ है, उसको पंचायत नियमावली के सुसंगत रूल के अनुसार संशोधित कर लें। उसी के अनुसार मतदाता सूची और मतदान केंद्र में भी संशोधन करने का निर्देश दिया गया। इसके अलावा कुछ जिलों में आरक्षण की समस्या का भी मामला सामने आया, जिसे एक सप्ताह में दूर कर लेने का निर्देश दिया गया।

सभी डीएम को कहा गया कि आदर्श मतदान केंद्राें को भी चिह्नित कर लें। सभी डीएम से प्रखंड की बजाय जिला स्तर पर एक साथ काउंटिंग और पदवार स्ट्रांग रूम की व्यवस्था करने पर भी विचार मांगा गया। डीएम के सुझावों के आधार पर आयोग आगे निर्णय लेगा। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान राज्य निर्वाचन आयुक्त डॉ. दीपक प्रसाद ने सभी डीएम से चुनाव की तैयारियों पर बातचीत की। साथ उनसे जिलों में कोरोना और बाढ़ की स्थिति पर भी नजर रखने को कहा। बैठक में आयोग के सचिव मुकेश कुमार सिन्हा भी मौजूद थे।

साभार :- daily bihar