जिस ब्लॉक में पति सफाई कर्मी है, उसी ब्लॉक की प्रमुख बनीं BA पास सोनिया

हमारे लोकतंत्र में बिना किसी भेद भाव के हर व्यक्ति को नेतृत्व का अवसर मिलता है और यही वज़ह है कि हमारा लोकतंत्र कामयाब है। इसी का उदाहरण देखने को मिला है उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में। जहाँ की निवासी महिला सोनिया (Sonia) बलियाखेड़ी ब्लॉक से चुनाव जीतकर ब्लॉक प्रमुख बन गई हैं।

सोनिया की इस जीत के बारे में एक विशेष बात ये है उनके पति सुनील कुमार इसी एरिया में सफाईकर्मी के तौर पर कार्यरत हैं। उनके पति सुनील ने तो शायद ख़्वाब में भी ना सोचा हो कि जिस ब्लॉक के एरिया में वे प्रतिदिन सफ़ाई का काम किया करते हैं, वहीं एक दिन उनकी पत्नी ब्लॉक प्रमुख बन जाएंगी। सोनिया, जो पहले एक सामान्‍य गृहिणी की तरह जीवन व्यतीत कर रही थीं, वे अब BJP से ब्लाॅक प्रमुख की जिम्मेदारी संभाल रही हैं।

नल्हेडा गुर्जर गाँव के निवासी सुनील कुमार विकासखंड बलियालखेड़ी में बतौर सफ़ाई कर्मचारी अपने ही गाँव में ही काम करते हैं। उनकी धर्मपत्नी सोनिया ने ग्रेजुएशन पूरा किया है तथा और वे घरेलू महिला हैं। पंचायत चुनाव में BDC की सीट के लिए आरक्षण मिलने की वज़ह से अनुसूचित जाति में सुरक्षित हो गई थी। फिर गाँव वालों के कहने पर सुनील कुमार ने BDC की मेम्बरशिप के लिए अपनी पत्नी सोनिया को चुनाव में खड़ा किया और वे चुनाव जीत गईं।

चुनाव जीतने के पश्चात ब्लॉक प्रमुख के पद हेतु प्रतिस्पर्धा शुरू हो गई थी। BJP में यहाँ पर आरक्षण के अनुसार अनुसूचित जाति की एक शिक्षित महिला की खोज थी। फिर BJP नेता मुकेश चौधरी ने शिक्षित होने के कारण सोनिया का नाम प्रमुख पद के लिए प्रस्तावित किया, तो पार्टी ने भी उनका समर्थन किया। अब तो सोनिया को BJP का समर्थन भी प्राप्त हो चुका था। फिर इसी प्रतिस्पर्धा में विपक्षी एक के बाद एक करके हटते चले गए तथा अंततः 26 साल की सोनिया बलियाखेड़ी की निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख चुन निर्वाचित हुईं।

सोनिया कहती हैं कि उनकी इस सफलता में उनके परिवार व पति का भरपूर सहयोग रहा। अब ब्‍लॉक प्रमुख बनने के बाद वे सबसे पहले गांवों के विकास हेतु कार्य करेंगी। अपने पति की नौकरी के सम्बंध में उन्होंने कहा कि वे अपनी नौकरी करते रहेंगे,