बिहार की बेटी रश्मि राज ने पहले प्रयास में ही मारी बाजी, BPSC से प्रवर्तन अधिकारी बन जिले का नाम किया रोशन

अपने प्रथम प्रयास में ही बीपीएससी की 64वीं परीक्षा में 699वीं रैंक लाकर श्रम प्रवर्तन अधिकारी बन शहर के विवेक-विहार मुहल्ला निवासी अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद एवं रिटायर्ड प्रधानाध्यापिका संगीता कुमारी की पुत्री डा. रश्मि राज ने जिले का नाम रौशन किया है.

रश्मि राज स्कूली दिनों से ही मेधावी छात्रा रही हैं. वे शहर के बालिका उच्च विद्यालय से प्रथम श्रेणी में मैट्रिक, महिला कालेज से प्रथम श्रेणी में इंटरमीडिएट, ग्रेजुएशन एवं पोस्ट ग्रेजुएशन डेंटल कालेज लखनऊ उत्तर प्रदेश से की हैं.

प्रथम प्रयास में ही बीपीएससी की फाईनल परीक्षा पास कर प्रवर्तन अधिकारी बनकर ये जिला का नाम रौशन की हैं. इसकी जानकारी मिलते ही उनके परिजन समेत मुहल्लावासी प्रफुल्लित हैं. इस बाबत विवेक-विहार मुहल्ला स्थित इनके घर पर आकर बधाई देने वालों में मुख्य आइसा के जिला सचिव सुनील कुमार, ऐपवा के जिला अध्यक्ष बंदना सिंह, राजद के विश्वनाथ राम, भाकपा माले के सुरेंद्र प्रसाद सिंह समेत दर्जनों गणमान्य लोग शामिल हैं.

यह भी पढ़ें  शिक्षक की बेटी बनी आईएएस अधिकारी, यूपीएससी परीक्षा में 5वीं रैंक हासिल कर बनी टॉपर

विदित हो कि अधिवक्ता राजेन्द्र प्रसाद एवं सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापिका संगीता कुमारी की रश्मि राज द्वितीय पुत्री हैं. प्रथम पुत्री स्नेह राज बरौदा बैंक में पदाधिकारी, तृतीय पुत्री निधि राज मधुबनी में अपर अनुमंडल पदाधिकारी एवं छोटे पुत्र रतन राज केनरा बैंक दलसिंहसराय में बैंक पदाधिकारी हैं.

पूछे जाने पर रश्मि राज ने हाईली एज्युकेटेड फैमिली समेत अपर पदाधिकारी बहन एवं माता-पिता को प्रेरणास्रोत बताते हुए सफलता का श्रेय दिया है.