UPSC, BPSC, IAS की तैयारी के लिए गंगा किनारे होती है डेली क्लास सभी बच्चों को होगी पुरे 25000 रूपये की बचत

देश के सबसे काठी परीक्षा में से एक परीक्षा यूपीएससी की परीक्षा मानी जाती है | इस परीक्षा को पास करने के लिए अभ्यार्थी अपना पूरा जान झोक देते है | तब जाकर कहीं कहीं उन्हें सफलता मिलती है | सभी युवाओं का सपना होता है | आईएस बनना बता दे कि इन दिनों पटना के गंगा घात के किनारे UPSC, BPSC, IAS की तैयारी कराई जाती है | आईएस अरुण सर बच्चो को फ्री में देते है शिक्षा आईये जानते है इनके बारे में विस्तार से….

बिहार: गंगा घाट पर बैठकर परीक्षा की तैयारी करते स्टूडेंट्स की ये तस्वीर सभी  के लिए प्रेरणा है

कौन है अरुण सर ?

1994 बैच के आइएएस अधिकारी अरुण कुमार सुबह में 6 से 8 बच्चों को निशुल्क मार्गदर्शन कर रहे हैं, ताकि बच्चे भविष्य में अच्छा कर सकें। पूर्व आईएएस अरुण कुमार बिहार के बच्चों को आइएएस और आइपीएस बनाने का बीड़ा उठा चुके हैं। यही वजह है कि वह सुबह में गंगा किनारे बच्चों को मार्गदर्शन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें  IAS Interview Question : वह कौन सी चीज है जिसे हम खाने के लिए खरीदते है लेकिन खाते नहीं है ?

गंगा किनारे अरुण सर की क्लास में पढ़ने वाले छात्र काफी संतुष्ट नजर आ रहे हैं। उनका कहना है की यूपीएससी और बीपीएससी की तैयारी कराने के लिए कोचिंग संस्थानों में मोटी-मोटी रकम वसूली जाती है, वहीं यहां पर उन्हें फ्री में मार्गदर्शन दिया जा रहा है।

Bihar NIT Ghat Study Ghat: बिहार का NIT घाट बना स्टडी घाट, फोटो वायरल -  bihar nit ghat picture became study ghat picture goes viral – News18 हिंदी

बिहार के बच्चे हर क्षेत्र में लहरा रहे परचम
अरुण कुमार का मानना है कि हर क्षेत्र में बिहार के बच्चे परचम लहरा रहे हैं, लेकिन वह बिहार में रहकर अच्छी शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते हैं। बिहार के बच्चे दिल्ली जाते हैं, मुंबई जाते हैं और वहां से वह यूपीएससी की तैयारी करते हैं।

यह भी पढ़ें  रेलवे का फरमान : बूढ़े लोगों को रेलवे नहीं देगी छुट पूरा देने पड़ेंगे किराया जानिये डिटेल्स...

मेरी कोशिश है कि बिहार का बच्चा बिहार में रहकर यूपीएससी की तैयारी करे और सफलता पाए। इसी सोच के साथ अपनी पत्नी रितु जायसवाल से प्रेरणा लेकर मैंने गंगा किनारे बच्चों को प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करानी शुरू की है।गंगा किनारे इस तरीके से प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी पूर्व IAS अरुण कुमार करा रहे हैं,

patna ganga nit ghat viral photo of students preparing for competitive exam  skt | पटना के गंगा घाट पर पाठशाला: कठोर तप करके संघर्ष के रास्ते पर चलकर ही  सफलता के शिखर

जिसका लाभ छात्र-छात्राएं उठा रहे हैं। इन क्लासेज का मकसद है अगली यूपीएससी परीक्षा में बिहार में रहकर पढ़ने वाले बच्चे यूपीएससी परीक्षा पास करें।आपको बता दें कि सिविल सेवा परीक्षा 2021 का परिणाम 30 मई को आया है। इसमें बिहार के कई अभ्यर्थियों ने सफलता प्राप्त की है, मगर इनमें से अधिकतर ऐसे हैं जो बिहार के बाहर रहकर तैयारी कर रहे थे।

यह भी पढ़ें  IAS Interview Question : क्या आपको पता है बैंक को हिंदी में क्या कहा जाता है?