बिहार को मिलेगा एक और एक्सप्रेस-वे का सौगात इन 10 जिलों से होकर गुजरेगा एक्सप्रेस-वे

बिहारवासी के लिए अच्छी खबर बहुत जल्द बनने जा रहा है एक शानदार एक्सप्रेस-वे जो कि बिहार के भी करीब 9 जिला से होकर गुजरने वाले है | इसमें बिहार के गोपालगंज, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया और किशनगंज शामिल हैं |

वहीँ आपको बता दे कि उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल के बीच बेहतरीन तरीके से रास्ते का जुड़ाव हो सकेगा वहीँ इसमें छह और आठ लेन होंगे और एक्सप्रेस-वे का पूरा हिस्सा ग्रीनफील्ड होगा. इसका डीपीआर बन चुका है, बहुत जल्द एनएचएआइ से इसे मंजूरी मिलने की संभावना है | और बता दे कि जमीन की अधिग्रहण की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है |

यह भी पढ़ें  25 मई से दूध जैसे चम-चम करेगा गंगा पथ, करीब 500 खम्भे पर लगेंगे बिजली का बल्ब

उम्मीद है कि इस एक्सप्रेस-वे साल 2025 तक बन सकेगा सूत्रों के मुताबिक इस सड़क का डीपीआर मेसर्स एलएन मालवीय इंफ्रा प्रोजेक्टस प्राइवेट लिमिटेड भोपाल ने तैयार किया है. इसमें किसी पुरानी सड़क को शामिल करने की योजना नहीं है. आबादी से हटकर इस सड़क का निर्माण होगा ताकि जमीन अधिग्रहण में अधिक समस्या नहीं हो. इस सड़क के तीन अलाइनमेट सामने आये थे, जिनमें से एक पर निर्णय होगा |

दिल्ली मुंबई का सफर होगा सुहाना :

सूत्रों के अनुसार गोरखपुर से सिलीगुड़ी के लिए फिलहाल फोरलेन एनएच-27 है, लेकिन इस पर गाड़ियों के आवागमन का दबाव अधिक होने से तेज रफ्तार से चलना संभव नहीं है. ऐसे में गोरखपुर से सिलीगुड़ी जाने में करीब 12-13 घंटे लग जाते हैं. वहीं, नया एक्सप्रेस-वे बनने से गोरखपुर से सिलीगुड़ी की दूरी करीब 600 किमी घट जायेगी |

यह भी पढ़ें  खुशखबरी : बिहार में 2187 पदों पर निकली भर्ती, जानें क्या है योग्यता और कितनी मिलेगी सैलरी

और समय में भी करीब छह घंटे कमी आने की संभावना है. इस एक्सप्रेस-वे का गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेस-वे सहित अन्य सड़कों से भी जुड़ाव होगा. इस तरह सिलीगुड़ी से उतर प्रदेश के प्रमुख शहरों के साथ ही दिल्ली आना-जाना भी आसान होगा.