अच्छी खबर : बिहार में इन 15 स्थानों पर होगा रोड ओवरब्रिज का निर्माण, देखिये जगहों का नाम

बिहार के लोगों के लिए अच्छी खबर है जी हाँ दोस्तों आपको बता दे कि बिहार में लोगों को समस्या को देखते हुए बिहार सरकार बड़ा निर्णय लेने वाली है जी हाँ बिहार के अलग-अलग जगहों पर 15 रोड ओवेरब्रिज का निर्माण किया जाना है | जिससे सड़क दुर्घटना में भी कमी देखने को मिलेगी वहीँ लोगों को जाम से भी मुक्ति मिलेगी | अभी लोगों को रेलवे गुमटी के पास ओवरब्रिज नहीं होने के कारण घंटों इंतजार करने पड़ता है जिसके वजह से पूरा जाम लग जाता है | लोगों को ये सब समस्या को ध्यान में रखते हुए सरकार अपनी तरफ से काम कर रही है |

यह भी पढ़ें  खुशखबरी बिहार के इन दो जिलों में खुलने जा रहा 150 सीट की क्षमता वाली मेडिकल कॉलेज

और बहुत जल्द बिहार के अलग-अलग 15 जगहों पर ओवेरब्रिज का निर्माण किया जाना है | वहीँ आपको बता दे कि इसके लिए केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने सेतु बंधन योजना के तहत दरभंगा, समस्तीपुर, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, मुजफ्फरपुर, बेगुसराय, नवादा एवं कटिहार जिले में अवस्थित विभिन्न 15 महत्वपूर्ण स्थलों पर लेवल क्रासिंग के बदले आरओबी निर्माण संबंधी प्रस्ताव की स्वीकृति दी है।

बिहार के सुपौल के भपतियाही और सुपौल शहर में एक-एक आरओबी करीब 138 करोड़ रुपये की लागत से सितंबर 2022 तक पूरा होने की संभावना है। एक आरओबी का निर्माण खगड़िया जिला के मानसी से सुपौल जिला के हरदी चौधारा के बीच बदला घाट के पास हो रहा है। वहीं दूसरा आरओबी सुपौल शहर में बनाया जा रहा है। कटिहार के मनिया और गौशाला में एक-एक आरओबी करीब 116 करोड़ की लागत से दिसंबर 2022 तक निर्माण होने की संभावना है।

यह भी पढ़ें  बिहार में प्राइवेट स्कूल कोचिंग खोलने के लिए इन नियमों का करना होगा पालन, जानिए क्या है नियम

इसके साथ ही अररिया में एक आरओबी करीब 87.86 करोड़ की लागत से दिसंबर 2022 तक पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है। पश्चिम चंपारण के बगहा और मंगलपुर में एक-एक आरओबी का निर्माण करीब 68.49 करोड़ रुपये की लागत से जून 2023 तक पूरा होने की संभावना है। सहरसा में एक आरओबी का निर्माण करीब 79 करोड़ की लागत से जुलाई 2023 तक पूरा हो सकता है।

साभार : hindustan