बिहार में डाटा सेंटर के लिए मिला 817 करोड़ रुपए का निवेश, जानिये क्या है शुरुआती योजना

दोस्तों अब बिहार के अलग-अलग जिलों में भी होगा डाटा सेंटर की स्थापना इसके लिए 817 करोड़ का रूपये का निवेश बिहार के आईटी विभाग से दिया गया है जिसके मदद से बिहार के विभिन्न जगहों पर डाटा सेंटर की स्थापना की जायेगी | वहीँ आपको बता दूँ कि एक बैठक बुलाई गई जिसकी अध्यक्षता आईटी मंत्री जीबेश कुमार ने किया उस बैठा में भारत स्थित एज डेटा सेंटर (ईडीसी) कंपनी व्यूनाउ से प्राप्त 817 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव पर चर्चा की गई।

वहीँ मंत्री ने बताया कि ‘‘हम प्रस्ताव को अंतिम रूप देने के लिए तत्पर हैं। प्रस्ताव के उचित मूल्यांकन के बाद इसे अंतिम मंजूरी के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय भेजा जाएगा। अब बिहार के आईटी उद्योग में निवेश के लिए निवेशक आगे आ रहे हैं। राज्य सरकार सभी सुविधाएं प्रदान करेगी, क्योंकि हमारा उद्देश्य बिहार को पूर्वी क्षेत्र का अगला आईटी केंद्र बनाना है।’’ बयान में कहा गया है कि यह फर्म डेटा प्रबंधन और कंप्यूटिंग आवश्यकताओं के व्यापक समाधान में माहिर है।

जानिये क्या है योजना :

दोस्तों आपको बता दे कि पहली चरण में राजधानी पटना को डाटा सेंटर का हब बनाया जाएगा | जिसमे हब स्थान पर 100 रैक के साथ एक चार स्तरीय डेटा सेंटर विकसित करेगी और इसकी स्थापित क्षमता 1.2 मेगावाट होगी। वहीँ अगर हम केंद्र की बात करें तो पहले चरण में सिर्फ चार केंद्र जैसे दरभंगा, भागलपुर,पूर्णिया और बक्सर में डाटा सेंटर का स्थापना करने की योजना तैयार की गई है | व्यूनाउ ने इससे पहले हिमाचल प्रदेश और पश्चिम बंगाल में राज्य सरकारों की इसी तरह की परियोजनाओं पर काम शुरू किया है।