Google की 300 गलतियां निकालने वाले अमन पाण्डेय को मिला 87 लाख डालर का बड़ा इनाम

मालूम हो कि गूगल के गलती धुन्धकर निकल्न्बे पर गूगल अपनी तरफ से इनाम देता है जित्तनी बड़ी गलती रहती है उस हिसाब से उसको इनाम दिया जाता है और कई बार तो गूगल ने ऐसे लोगों को अपनी कम्पनी में जॉब भी करने को दी है | हाल ही में गूगल ने भारत के अमन पाण्डेय को 87 लाख डालर का इनाम दिया है बता दे की इतनी बड़ी रकम गूगल और इसके दूसरे सॉफ्टवेयर में कमियां निकालने के लिए दी गई है। गूगल ने अपने ब्लॉग पोस्ट में बताया कि अमन पांडे प्लेटफॉर्म में सबसे ज्यादा खामियां (vulnerabilities) बताने के लिए टॉप-मोस्ट रिसर्चर माना गया है। सिर्फ 2021 में ही उन्होंने 232 कमियों को बताया था।

यह भी पढ़ें  केंद्र सरकार ने 4G प्रोजेक्ट के लिए दिये 3683 करोड़ रुपये गाँव-गाँव तक लोगों की पंहुचेगी सेवा

समें एंड्राइड वल्नरेबिलिटी रिवार्ड प्रोग्राम (VRP) भी शामिल है। इसमें दुनिया भर से मेरे जैसे लगभग 100 तकनीकी विशेषज्ञों ने भाग लिया। इन सभी विशेषज्ञों को गूगल की ओर से 65 करोड़ रुपये का इनाम दिया गया है। गूगल ने अपने ब्लॉग में यह भी उल्लेख किया है कि हमने सबसे अधिक बग खोजे हैं। इसके लिए गूगल ने हमें आर्थिक मदद दी है। अभी तक हमारी कंपनी कुछ लाख रुपये की थी लेकिन अब यह करोड़ों रुपये हो गई है।

जैकबस ने बताया कि Android में खामियां पाने के लिए सबसे ज्यादा इनाम राशि दी गई है। वास्तव में 2021 में लगभग 3 मिलियन डॉलर का रिवॉर्ड दिया गया है, जो 2020 के मुकाबले दोगुना हो गया। इसके अलावा, Google ने एंड्रॉइड में खोजी खामियों की एक सीरीज के लिए सबसे ज्यादा भुगतान से रिवॉर्ड किया। रिवॉर्ड की राशि 157,000 (करीब 1.18 करोड़ रुपये) डॉलर थी।