रिलायंस जियो की एक और उपलब्धि, इस क्षेत्र में खत्म किया बीएसएनएल का वर्चस्व !

जिओ मार्केट में सबसे कम समय में सबसे अधिक ग्राहक को अपने खेमे में शामिल कर लिया है आज यही वजह है की एशिया की सबसे आमिर शख्स मुकेश अम्बानी है | बात दे की ब्रॉडबैंड सेगमेंट में वायरलेस सर्विस के साथ वायर्ड सर्विस में भी रिलायंस जियो का ही सिक्का चल रहा है. ट्राई के हालिया जारी नवंबर 2021 के आंकड़ों के मुताबिक, वायर्ड फिक्स्ड लाइन ब्रॉडबैंड सर्विस में सरकारी कंपनी बीएसएनएल को पीछे छोड़कर जियो ने नबंर वन की पोजीशन हासिल कर ली है.

मीडिया रिपोर्ट की माने तो लगभग 43 लाख 40 हजार वायर्ड फिक्सड लाइन ब्रॉडबैंड कनेक्शन्स के साथ जियो पहले, तो लगभग 42 लाख कनेक्शन के साथ बीएसएनएल दूसरे स्थान पर काबिज था. 40 लाख 80 हजार कनेक्शन के साथ भारती एयरटेल ने अपनी तीसरी पोजीशन बरकरार रखी है.

यह भी पढ़ें  अजूबा : 11वीं कक्षा के छात्र ने बनाया नींद भगाने वाला चश्मा, आंख लगते ही ड्राइवर को अलर्ट करके जगा देगा यह चश्मा

आपको बता दे की अपने कमर्शियल लॉन्च के मात्र 2 साल के भीतर रिलायंस जियो की फाइबर सर्विस ने वायर्ड फिक्स्ड लाइन सर्विस सेगमेंट में नंबर वन का तमगा हासिल कर लिया है. नवंबर में रिलायंस जियो ने लगभग 1 लाख 90 हजार नये फाइबर कनेक्शन दिये. वहीं, सेगमेंट की दिग्गज कंपनी बीएसएनएल के ब्रॉडबैंड ग्राहकों में कमी दर्ज की गई. एयरटेल की ग्राहक संख्या में भी लगभग 1 लाख का इजाफा दर्ज किया गया.

ट्राई के आंकड़ों के अनुसार, नवंबर 2021 में वायरलेस और वायर्ड ब्रॉडबैंड सेगमेंट में रिलायंस जियो की कुल बाजार हिस्सेदारी 54.01 फीसदी जा पहुंची है. एयरटेल 26.21% के साथ दूसरे और वोडाफोन-आइडिया 15.27% के साथ तीसरे नंबर पर है. कुल मोबाइल ग्राहक संख्या के मामले में भी जियो अव्वल बना हुआ है. 30 नवंबर 2021 को जियो के नेटवर्क से 42 करोड़ 86 लाख से अधिक ग्राहक जुड़े थे.

यह भी पढ़ें  JIO का 499 रुपये वाला प्लान लौट आया, धुआंधार डेटा-कॉलिंग के साथ होगा ये खासियत जाने डिटेल्स...