IAS Dr.Apala Mishra एक डेंटिस्ट से बनी प्रसाशनिक सेवा की अधिकारी, UPSC में लाई 9वीं रैंक, बढाया पिता का मान

 यूपीएससी UPSC (Union Public Service Commission) परीक्षा अब तक की सबसे कठिन परीक्षा है। इस परीक्षा को पास करने के लिए अभ्यर्थी को तीन-तीन पड़ाव से गुजरना पड़ता है। पहला पड़ाव प्री एग्जामिनेशन का होता है। दूसरे में मेंस परीक्षा देते हैं। फिर अभ्यार्थी का इंटरव्यू (साक्षात्कार) होता है। इस तीनों पड़ाव को पार करने के बाद ही कोई आईएएस बन पाता है।

आईएएस (IAS – Indian Administrative Service) पद का अपना एक अलग आकर्षण है। इसीलिए तो अभ्यार्थी किसी दूसरे प्रोफेशन को भी छोड़कर प्रशासनिक सेवा में शामिल होने की दिशा में अपना कदम बढ़ा देते हैं। ऐसी ही कहानी है एक डेंटिस्ट की है, जो पेशे से दांत की डॉक्टर थी, आगे चलकर आईएएस बनी।

कड़ी मेहनत से टॉप 10 में जगह बनाई

IAS Success Story in Hindi : Dr. Apala Mishra गाजियाबाद के वसुंधरा सेक्टर-5 की रहने वाली है। आईएएस डॉ. अपाला मिश्रा के माता पिता मूलतः उत्तर प्रदेश के बस्ती जिला से है। डेंटिस्ट बैकग्राउंड से यूपीएससी UPSC (Union Public Service Commission) क्लियर कर आईएएस बनने का सफर आसान ना था। कड़ी मेहनत के कारण आईएएस (IAS – Indian Administrative Service) डॉ. अपाला मिश्रा सिविल सेवा परीक्षा 2020 में 9वां रैंक लेकर आई। टॉप 10 में जगह बनाया और अपने माता-पिता का मान बढ़ाया।

यह भी पढ़ें  पेट्रोल के बढ़ते दाम से तंग आकर इस शख़्स ने 20 हज़ार की लागत से बना डाली E-Bike

घर में अनुशान और संस्कार

IAS Dr. Apala Mishra के पिता अमिताभ मिश्रा आर्मी के सेवानिवृत्त कर्नल हैं। माँ दिल्ली यूनिवर्सिटी हिन्दी की प्रोफ़ेसर है। डॉ.अपाला मिश्रा के भाई अभिलेख मिश्रा आर्मी में मेजर हैं। तो इस तरह देश सेवा के साथ-साथ अनुशासन और संस्कार अपाला मिश्रा को विरासत में मिला।

Army College of Dental Science से ग्रेजुएशन कर डेंटिस्ट बनी

आईएएस डॉ. अपाला मिश्रा की शुरुआती पढ़ाई देहरादून में हुई है। 10th पास करने के बाद वह दिल्ली आ गई। आईएएस डॉ. अपाला मिश्रा को बचपन से ही पढ़ाई में काफी रुचि थी। अच्छे अंको से उन्होंने 12th भी पास कर लिया। 12th के बाद आर्मी कॉलेज आफ डेंटल साइंस (Army College of Dental Science) से डेंटल सर्जरी में ग्रेजुएशन करने लगी। डेंटल सर्जरी में ग्रेजुएशन करने के बाद वह एक प्रोफेशनल डेंटिस्ट बन गई।

यह भी पढ़ें  IAS Interview Question : भारत में राष्ट्रीय झंडे को पहली बार कब और कहां फहराया गया था? ज्यादातर लोग हुए फेल

पहला दो एटेम्पट में फेल किया

घर में दो-दो आर्मी प्रोफेशनल और साहित्यिक प्रेम होने के कारण अपाला मिश्रा को देश सेवा और मानव हित में काम करने की रुचि हमेशा से रही थी। इसीलिए उन्होंने 2018 में यूपीएससी UPSC (Union Public Service Commission) का पहला एग्जाम दिया। दुर्भाग्य से वह सफल ना हो पाई।

टॉप 10 में जगह बनाई

2019 में भी उन्होंने दूसरी बार यूपीएससी UPSC (Union Public Service Commission) का एग्जाम दिया। पर दूसरी बार भी उन्हें सफलता नहीं मिली। लेकिन 2020 की कहानी कुछ और ही थी। 2020 मैं उन्हें सफलता प्राप्त हुई। यूपीएससी ऑल इंडिया में 9th रैंक लाकर टॉप 10 में जगह बनाई। आईएएस अपाला मिश्रा को इंटरव्यू में सबसे ज्यादा 275 में से 215 अंक प्राप्त हुए जो, अपने आप में एक रिकॉर्ड है ।

यह भी पढ़ें  दो बहने ने मिलकर शुरू की बिजनेस पिता ने दिया साथ आज हो रही कमाई करोड़ो में....

40 मिनटों तक चला interview

आईएएस डॉ. अपाला मिश्रा बताती हैं उनका साक्षात्कार (interview) 40 मिनटों तक चला था। तरह-तरह के प्रश्न पूछे गए थे। उन्होंने सभी प्रश्नों का सही-सही उत्तर दिया और 275 में से 215 अंक लेकर आई।

साक्षात्कार में साड़ी से भी पूछे गए सवाल

आईएएस डॉ. अपाला मिश्रा IAS साक्षात्कार (interview) के लिए साड़ी पहन कर गई थी। उन्हें सारी से संबंधित भी प्रश्न पूछे गए। जैसे चंदेरी सिल्क और साउथ सिल्क में क्या अंतर होता है। सिल्क साड़ी किस राज्य में बनती है। अपाला मिश्रा ने सभी प्रश्नों का सही-सही उत्तर देकर अच्छे अंको से इंटरव्यू पास कर लिया।