पेड़ लगाने के कारण लोग कहने लगे थे पागल, मगर कड़ी मेहनत द्वारा बंजर ज़मीन पर उगाया जंगल

प्रकृति द्वारा मिली हर चीज़ की कदर हमें करनी चाहिए और प्रकृति को कायम रखना भी बहुत जरूरी । हमारे आस-पास का हरियाली से भरा हुआ आवरण प्रकृति का ही तो देन है। जहां पूरा पत्थर ही पत्थर था पहाड़ी क्षेत्र को अभी एक-दो दिन नहीं पूरे 24 साल की मेहनत में या शख्स ने पहाड़ को हरियाली जंगल में तब्दील कर दिया यहां जब भी लगाता था तो लोग इसे पागल पागल चिढ़ाते थे लेकिन आज यह पूरी 250 हेक्टेयर जमीन को एक गाने बने जंगल का रूप दे दिया है इससे सोशल मीडिया पर इस की खूब तारीफ हो रही है |

यह भी पढ़ें  मात्र 22 साल की उम्र में IAS बनी आर्मी के बेटी UPSC में हाशिल की चौथा रैंक हर तरफ हो रही तारीफ़

बहुत दिनों की बात है 1960 में इस जंगल में भयानक आग लगी थी जिसके कारण पूरा जंगल झुलस कर खत्म हो गया राख हो गई उसके बाद इस शख्स ने संकल्प लिया कि मैं इस जंगल को पूरी तरह से इस को फिर से हरियाली दिलाऊंगा इस शख्स की इस संकल्प में बहुत कड़ी मेहनत के बाद मीठा फल मिला और लोगों को भी इससे बहुत प्रेरणा मिली |

और उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण थोड़ी सी किस काम में उनको तकलीफ हुई अरुण सबसे पहले बरगद का पौधा लगाना शुरू किया अच्छी तरीके से मालूम था कि अगर यह काम सफल हो गया तो पूरे लोग को बहुत सारी सुविधा मिलेगी |

यह भी पढ़ें  दो बहने ने मिलकर शुरू की बिजनेस पिता ने दिया साथ आज हो रही कमाई करोड़ो में....

अब एक अंदाजा लगाया जाता है कि उस व्यक्ति ने करीब 11000 से भी ऊपर पौधे लगाए हैं अब वहां के जमीन फसल लायक बना दी है और वहां के किसान को बहुत सारी सुविधा मिलती है और इनकी नाम की स्मृति भी वहां है लोग इन्हें वहां भगवान करके जानते हैं |वह कितनी बार अवार्ड से भी सम्मानित है वहां के सरकार ने भी इनको अवार्ड देकर सम्मानित किया और वहां के लोग इसे खूब प्रेरित हुए |