बिहार से चलने वाली ये सभी ट्रेनों का कम हो गया किराया, नहीं होंगे विशेष ट्रेन

बिहार के भागलपुर जिले से चलने वाली देश के कोने – कोने जाती है | बता दे की अब वो सभी ट्रेन में से विशेष होने का टैग हटा दिया गया है | और किराया में भी होगी कमी जानकारी के अनुसार सोमवार को विशेष टैग हटाकर पुराने नंबर (जीरो (0) हटाकर कई ट्रेनों में अब एक (1) जोड़कर) से परिचालन शुरू किया गया है।

पुराने विशेष का टैग हटने के साथ ही अंग एक्स., जम्मूतवी, वनांचल, गांधीग्राम एक्स. सहित कई ट्रेनों के किराये भी कम हो गए हैं। किराये में 15 से 20 प्रतिशत (%) की कमी आई है। बिहार के मसलन,भागलपुर से यशवंतपुर चलने वाली साप्ताहिक अंग एक्सप्रेस की स्लीपर में जहां 1050 रुपये किराया लग रहा था, विशेष का टैग हटने से किराया घटकर 875 रुपये हो गया है।

यह भी पढ़ें  बिहार की बेटी का डबल धमाका UPSC के बाद bpsc में भी दिखाई आर्मी जवान की बेटी ने अपना जलवा

कितना घटाया गया किराया :

किराया में ट्रेनों पर 175 रुपये कम होने से रेलयात्रियों को काफी राहत होगी। इसी तरह अन्य ट्रेनों के किराये में 175 रुपये से 300 रुपये तक किराए में कमी आई है। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार उन ट्रेनों के किराये में कमी आई है जिन ट्रेनों में तत्काल टिकट की सुविधा नहीं थी।

  • ट्रेन नंबर 12367/12368 भागलपुर-आनंद विहार विक्रमशिला एक्सप्रेस
  • 12335/12336 भागलपुर-दादर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस,
  • 19147/19148 भागलपुर-सूरत एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों में तत्काल टिकट की सुविधा जारी रखने की वजह से इन ट्रेनों में विशेष का टैग होने के बावजूद किराये में अंतर नहीं पड़ा था।
  • 13015/13016 हावड़ा-जमालपुर
  • 13031/13032 हावड़ा-जयनगर,
  • 13071/13072 जमालपुर-हावड़ा सुपर फास्ट
  • 13401/13402 भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी
  • 13423/13424 भागलपुर-अजमेर
  • 13423/13424 भागलपुर-अजमे
  • 13429/13430 मालदा टाउन-आनंद विहार एक्सप्रेस
  • 13235/13236 साहिबगंज-दानापुर इंटरसिटी
  • 13241/13242 बांका-राजेंद्र नगर इंटरसिटी
  • 1553/1554 भागलपुर-जयनगर,
  • 14411/14412 गरीब रथ एक्सप्रेस
यह भी पढ़ें  बिहारवासियों के लिए खुशखबरी! सासाराम से आरा के रास्‍ते पटना की दूरी महज ढाई घंटे में होगी पूरी…

ये सभी ट्रेन सहित कई ट्रेनों से विशेष का टैग हटा लिए गए हैं और कई अन्य ट्रेनों से विशेष का टैग हटाने काम चल रहा है। आगामी 21 नवंबर तक पुराने नंबर और किराये सिस्टम में फीडिंग करने की योजना के तहत युद्ध स्तर पर कार्य जारी है।