एक किसान ने DM को लिखा आवेदन कहा -आम के फसल से नुकसान हो रहा है गांजा उगाना चाहता हूं !

महारास्त्र के सोला पुर के एक किसान ने डीएम साहब को लिखा ख़त कहा आम की फसल से हो रही है नुकसान गाजा उगाना चाहता हू | ऐसा लैटर देकर उन्होंने जिलाधिकारी से अनुमति लेने का प्रयास किया |

किसान ने खत में लिखा

“खेती-बाड़ी से ज़्यादा लाभ नहीं मिलता इसलिए खेती करना मुश्किल होता जा रहा है. खेती करने में जो पैसे लगाते हैं उतने भी वापस नहीं मिलते. चीनी की फ़ैक्ट्री को गन्ना बेचा था उसके पैसे भी नहीं मिले.”

किसान ने 15 सितंबर तक परमिशन देने की गुज़ारिश की और कहा कि अगर परमिशन नहीं मिलती है तो 16 सितंबर से वो अपने खेत पर गांजे की खेती शुरू कर देगा. किसान ने ये भी लिखा कि अगर गांजा उगाने की वजह से उस पर कोई कार्रवाई होती है तो इसकी पूरी ज़िम्मेदारी प्रशासन की होगी |

किसान का कहना है कि गांजे की मार्केट वैल्यू ज़्यादा है. ज़िला प्रशासन ने ये आवेदन पत्र पुलिस को भेज दिया और पुलिस ने इसे पब्लिसिटी स्टंट बताया. Narcotic Driges and Psychotropic Substances (NDPS) Act के तहत कैनाबिस की खेती ग़ैरक़ानूनी है | आप इसे अपनों खेतो में नहीं उगा सकते |