13 करोड़ की लागत से बन रहा विकास का पुल पानी में बह गया, 6 सालों में 16 पिलर ही बन पाए थे.

गया के डोभी ब्लॉक के कोठवारा वरीया गांव के पास निरंजना नदी पर निर्माणाधीन पल मामूली बाढ़ में ही बाह गया, 13 करोड़ की लागत से पुल का निर्माण किया जा रहा है जो की पिछले छह सालों से बन रहा है। पुल के पानी में बह जाने का किसी ने वीडियो बना लिया और अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

साल 2015 में नाबार्ड योजना मद से उस वक्त के तत्कालीन विधायक सह पंचायती राज मंत्री विनोद प्रसाद यादव द्वारा पुल निर्माण का शिलान्यास किया गया था, लेकिन इन छह सालों में पुल का एक चौथाई काम भी पूरा नहीं हो पाया है। गांव के लोगों ने कहा की कोठवारा से जोड़ने वाली निलांजना नदी पर निर्माणाधीन पुल बारिश की पहले ही बौछार में गिरकर ध्वस्त हो रही है, जो पुल निर्माण में भारी अनियमितता को दर्शा रही है।

पुल निर्माण की जिम्मेदारी तिरुपति बालाजी कंस्ट्रक्शन कंपनी को दी गई है, लोग हमेशा से इस पुल में इस्तेमाल हो रहे घटिया सामग्री की शिकायत करते आए है।  इसके खिलाफ लोगों ने प्रदर्शन भी किया था। इस वजह से कई बार काम रोकना भी पड़ा था।