रेलवे ने टोक्यो ओलंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट मीराबाई चानू को दिया 2 करोड़ रुपये का इनाम, प्रमोशन भी मिला

भारतीय रेलवे ने टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतकर इतिहास रचने वाली वेटलिफ्टर मीराबाई चानू को मालामाल कर दिया है। रेलवे ने अपने एथलीट को दो करोड़ रुपये का नकद इनाम देने के अलावा प्रमोशन देने का भी ऐलान किया है। इससे पहले, मणिपुर सरकार ने भी ओलंपिक मेडलिस्ट को एक करोड़ देने की घोषणा की थी। मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलंपिक में महिलाओं की वेटलिफ्टिंग स्पर्धा के 49 किग्रा भारवर्ग में रजत पदक जीता था। इसके लिए उन्होंने 202 किलो का कुल भार उठाया। 

नए रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने टोक्यो ओलंपिक में चानू के प्रदर्शन की सराहना करते हुए उन्हें दो करोड़ रुपये के नकद इनाम के साथ-साथ प्रमोशन देने की भी घोषणा की। रेल मंत्री ने मीराबाई की सराहना करते हुए कहा कि वह देश का गर्व और भारतीय रेलवे का सम्मान हैं। वैष्णव ने ट्वीट कर कहा कि मीराबाई ने अपनी प्रतिभा और मेहनत से करोड़ों भारतीयों को प्रेरित करने का काम किया है।

ओलंपिक में चानू की जीत उनके एक सपना था और लेकिन उनके माता-पिता उन्हें ट्रेनिंग के लिए प्रतिदिन का खतरा नहीं उठा सकते थे। चानू ने अपनी सफलता का श्रेय अपने एरिये के ट्रक ड्राइवरों को भी दिया, जो उन्हें ट्रेनिंग स्थल तक लिफ्ट देते थे। चानू ने कहा, ‘ रेत, पत्थर और अन्य निर्माण सामग्री ले जाने वाले ट्रक ड्राइवर मुझे ट्रेनिंग स्थल तक लिफ्ट देकर मेरी मदद करते थे। ड्राइवर दूर से ही हॉर्न बजाते थे और मुझे बताते थे कि वे पास हैं और मुझे तैयार हो जाना चाहिए। ट्रक ड्राइवर मुझसे किराया नहीं लेते थे और उसी पैसे से मैं अपनी ट्रेनिंग के दौरान कुछ खाने की सामान खरीदती थी।