जॉइनिंग से लेकर प्रमोशन तक, जानिए IAS अधिकारियों को मिलती है कितनी सैलरी…

IAS अधिकारी बनने के लिए यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा पास करनी पड़ती है. हर साल लाखों अभ्यर्थी इस परीक्षा में शामिल होते हैं. लेकिन कुछ चुनिंदा अभ्यर्थियों को ही सफलता मिलती है. यूपीएससी परीक्षा पास करने के बाद अभ्यर्थियों को मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री ट्रेनिंग अकैडमी में कड़ी ट्रेनिंग से गुजरना पड़ता है.

आज हम आपको आईएएस अधिकारियों के वेतन के बारे में बता रहे हैं. 7th Pay कमीशन के मुताबिक, आईएएस अधिकारियों को बेसिक वेतन और और TA, DA, HRA के अनुसार प्राप्त होगा. हर एक प्रमोशन के बाद आईएएस अधिकारी की सैलरी बढ़ती जाएगी.

पद बेसिक वेतन
SDM/ अवर सचिव / सहायक सचिव- 56,100/-
अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (ADM)/ उप सचिव/ अवर सचिव- 67,700/-
जिला मजिस्ट्रेट/संयुक्त सचिव / उप सचिव- 78,800/-
जिला मजिस्ट्रेट/ विशेष सचिव/ निदेशक0- 1,18,500/-
डिविज़नल कमिश्नर/ सचिव-सह-आयुक्त/ संयुक्त सचिव- 1,44,200/-
प्रमुख सचिव/ अपर सचिव- 1,82,200/-
अपर मुख्य सचिव- 2,05,400/-
प्रमुख शासन सचिव/ सचिव- 2,25,000/-
भारत के कैबिनेट सचिव- 2,50,000/-

जब आईएएस अधिकारियों की जॉइनिंग होती हो तो महंगाई भत्ता 0% निर्धारित होता है जो समय के साथ बढ़ता जाता है. अधिकारियों का वेतन कार्यकाल और पदोन्नति के साथ बढ़ता जाता है. मूल वेतन हर वर्ष प्रारंभिक स्तर पर 3% बढ़ता है. कैबिनेट सचिव स्तर पर यह तय है. हर साल 0 से 14% तक महंगाई भत्ता में बढ़ोतरी हो जाती है.