ट्रेंड हुआ #प्रिया_मलिक, लोग दे रहे गोल्ड मेडल की बधाई, जानिए क्या है सच्चाई…

: जापान के टोक्यो में खेले जा रहे ओलंपिक गेम्स में अब तक भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन मिला-जुला रहा है। पहले दिन मीराबाई चानू ने सिल्वर मेडल दिलाया। कुछ खिलाड़ियों ने अपने शुरुआती मुकाबले जीते हैं, वहीं कुछ खिलाड़ियों ने निराश किया है। इस बीच, सोशल मीडिया, खासतौर पर ट्विटर पर महिला पहलवान प्रिया मलिक का नाम ट्रेंड करने लगा।

एक तस्वीर साझा कर बड़ी संख्या में लोग Tokyo Olympics में देश को पहला गोल्ड मेडल दिलाने के लिए प्रिया मलिक को बधाइयां देने लगे। जांच में पता चला कि जो तस्वीर शेयर की जा रही है, वो टोक्यो ओलंपिक्स की नहीं है। तस्वीर हंगरी के बूडापेस्ट में खेली जा रही विश्व कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप की है जहां प्रिया ने गोल्ड मेडल जीता है। प्रिया मलिक ने यह कारनामा 73 किलो भार वर्ग में किया है।

इससे पहले प्रिया मलिक ने साल 2020 में राष्ट्रीय स्कूल खेलों में स्वर्ण जीता था। इसके बाद 2020 में ही पटना में हुई राष्ट्रीय कैडेट कुश्ती प्रतियोगिता में भी स्वर्ण पदक जीता।

ट्विटर पर रविवार सुबह से #प्रिया_मलिक ट्रेंड कर रहा है। अधिकांश लोग खबर की पुष्टि किए बगैर बधाइयां दे रहे हैं। वहीं कुछ ने इस साजिश को पकड़ लिया कि जो फोटो ट्रेंड हो रही है, वो टोक्यो ओलंपिक्स की नहीं है। कुछ यूजर्स ने इस बहाने आमिर खान की फिल्म दंगल का वह डायलॉग लिख दिया, जिसमें कहा जाता है कि गोल्ड तो गोल्ड होता है। कुछ लोगों ने प्रिया मलिक की तारीफ करते में दंगल का वह डायलॉग भी लिखा, जिसमें आमिर खान करते हैं कि मेरी छोरियां क्या छोरो से कम है।