देवघर में बाबा मंदिर जाने के सभी रास्ते श्रद्धालुओं के लिए होंगे बंद

झारखंड के बाबा नगरी देवघर में श्रावणी मेले के आयोजन को लेकर अब तस्वीरें साफ होती नजर आ रही है. राज्य की हेमंत सरकार ने भले ही श्रावणी मेले के आयोजन को लेकर कोई फैसला नहीं सुनाया है, पर जिला प्रशासन की सक्रियता से अब यह स्पष्ट होता जा रहा है कि बाबा मंदिर में इस बार भी श्रावणी मेले का आयोजन नहीं होगा. संभावना जतायी जा रही है इस बार सावन माह में बाबा मंदिर आम श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोला जायेगा.

जिला प्रशासन की ओर से बाबा मंदिर तक जानेवाले रास्तों को आम श्रद्धालुओं के लिए बंद करने की तैयारी की जा रही है. कांवरिया रूट से भी सावन महीने में श्रद्धालुओं को आने से रोका जायेगा. झारखंड के प्रवेश द्वार दुम्मा को भी सील किया जायेगा. वहां मजिस्ट्रेट और पुलिस बल की तैनाती होगी. 

यह भी पढ़ें  यात्रिगन कृपया ध्यान दे! रेलवे उठाने जा रहा है ये बड़ा कदम, आप सभी पर पड़ेगा असर जानिये डिटेल्स...

सावन महीने में संभावित भीड़ के मद्देनजर जिला प्रशासन शिवगंगा को भी घेरने की तैयारी कर रहा है. काम भी शुरू कर दिया गया है. इसके लिए विभागीय पत्र भी जारी हो गया है. शिवगंगा सहित देवघर प्रवेश के रास्ते को बंद करने का आदेश भी जारी कर दिया गया है.

जानकारी के अनुसार, प्रशासन की ओर से दुम्मा, मातृ मंदिर स्कूल चौक, नेहरू पार्क, जलसार मोड़, रांगा मोड़, दर्शनियां मोड़, लक्ष्मीपुर चौक सहित कई जगहों पर अस्थायी कार्यालय सह पुलिस छावनी बनाने का निर्देश दिया गया है. सूत्रों के अनुसार, इन अस्थायी पुलिस छावनी के लिए पंडाल बनाने का आदेश दिया गया है. पंडाल में अस्थायी कार्यालय के लिए टेबुल-कुर्सी, पंखा आदि की व्यवस्था करने को कहा गया है.

यह भी पढ़ें  बिहार में रेलवे इन रूटों पर खर्च करेगा 500 करोड़ रुपया जानिये क्या है रेलवे की पूरी प्लान?

सावन महीने में लॉ एंड आर्डर को बनाये रखने के लिए पुलिस फोर्स की डिमांड की गयी है. बताया जाता है कि सावन महीना शुरू होने से पहले तकरीबन एक हजार से अधिक पुलिस बल बाबाधाम पहुंच जायेंगे. इन पुलिस को ठहराने के लिए जिला प्रशासन ने पुलिस विभाग को कई स्कूल भवन दिये हैं. इन स्कूलों में पर्याप्त सुविधा है या नहीं.