AddText 07 10 08.01.37

समय के साथ ग्लोबल वॉर्मिंग और जलवायु परिवर्तन जैसे खतरों की वज़ह से क्लीन एनर्जी के लिए वैज्ञानिक बहुत प्रकार से प्रयास कर रहे हैं और अब उन्हें अपने 10 वर्षों के कठिन परिश्रम का नतीजा मिल रहा है। दरअसल वैज्ञानिक पिछले 10 वर्षों से दुनिया का सबसे बड़ा चुंबक तैयार करने में लगे थे और अब उनकी कोशिशें कामयाब होने जा रही हैं।

Also read: Petrol Diesel News : पेट्रोल-डीजल के भाव में बहुत हुआ बदलाव कहीं महंगा तो कहीं सस्ता हुआ दाम,जाने…

यह चुम्बक बहुत तरह से पृथ्वी में परिवर्तन ला सकता है। ये विशाल चुम्बक इंटरनेशनल थर्मोन्यूक्लियर एक्सपेरिमेंटल रिएक्टर का पार्ट है। जिसका उद्देश्य पृथ्वी पर ही सूर्य के लेवल की एनर्जी निर्मित करना है।

Also read: बड़ी खबर : मुजफ्फरपुर से यशवंतपुर के बीच चलने वाली समर स्पेशल ट्रेन के फेरे को अब बधा दिया गया है, जानिये समय-सारणी

इस मैग्नेट की लम्बाई 59 फीट और इसका व्यास 1 फीट होगा। इस मैग्नेट के वज़न की बात करें तो यह 1000 टन का होगा। इसे एटॉमिक्स द्वारा डिजाइन और मैनुफेक्चर जनरल किया गया है। आपको बता दें कि यह इतना पावरफुल होगा.

Also read: Petrol Diesel Price Today : यूपी बिहार में सस्ता हुआ पेट्रोल डीजल जानिये आपके जिला में कितना भाव में बिक रहा तेल, देखिये…

कि 1000 फीट लंबे व 1 लाख टन के एयरक्राफ्ट कैरियर को भी भूमि से 6 फीट तक ऊपर उठाने में सक्षम रहेगा। इसकी क्षमता इतनी ज़्यादा होगी कि यह पृथ्वी की मैग्नेटिक फील्ड से 2 लाख 80 हज़ार गुना अधिक पावरफुल रहेगा।

Also read: दरभंगा, समस्तीपुर, बरौनी के अलावा इन लोगों के लिए पटना का सफ़र हुआ आसान, जय नगर से पटना के लिए शुरू हुई ट्रेन, जानिये स्टॉपेज और टाइमिंग…

सोनू मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले है पिछले 4 साल से डिजिटल पत्रकारिता...