AddText 07 09 08.07.19

बिहार में सीएम नीतीश कुमार जनता के लिए कुछ खास करने जा रहे हैं। पांच साल बाद शुरू हो रहे इस काम को लेकर सीएम ने 12 जुलाई की तारीख तय की है। दरअसल जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम पांच सालों बाद फिर शुरू हो रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को कहा है.

Also read: Petrol Diesel Price Today : यूपी बिहार में सस्ता हुआ पेट्रोल डीजल जानिये आपके जिला में कितना भाव में बिक रहा तेल, देखिये…

कि 12 जुलाई से इसकी शुरुआत होगी। हर सोमवार को मुख्यमंत्री से लोग आमने-सामने बैठकर अपनी समस्या और शिकायत करेंगे। मुख्यमंत्री ऑनस्पॉट लोगों की समस्याओं के निष्पादन का निर्देश पदाधिकारियों को देंगे। 

Also read: दरभंगा, समस्तीपुर, बरौनी के अलावा इन लोगों के लिए पटना का सफ़र हुआ आसान, जय नगर से पटना के लिए शुरू हुई ट्रेन, जानिये स्टॉपेज और टाइमिंग…

जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम शुरू करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। दो दिनों पहले मुख्यमंत्री ने खुद भी जनता दरबार स्थल का मुआयना किया था। इस बार यह दरबार मुख्यमंत्री सचिवालय 4 केजी के परिसर में लगेगा।

Also read: Vande Bharat Train : पटना, आरा, बक्सर होते हुए बिहार से राजधानी दिल्ली के लिए रवाना होगी वंदे भारत एक्सप्रेस, जानिए…

इसके पहले यह कार्यक्रम मुख्यमंत्री आवास एक अणे मार्ग में होता था। इससे पहले अप्रैल, 2006 से मई 2016 तक मुख्यमंत्री ने यह कार्यक्रम किया था। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने पटना में पत्रकारों से कहा कि लगातार दो कार्यकाल तक हम हर सोमवार को जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम करते रहे। महीने में तीन सोमवार को यह कार्यक्रम होता था।

Also read: खरीदना चाहते है सोना चांदी तो जल्दी करें खरीदारी कम कीमत में मिल रही है यहाँ सोना, चेक करें १० ग्राम का क्या है दाम…

फिर लोक शिकायत निवारण कानून हमने लोगों के लिए बना दिया। इसके बाद वर्ष 2016 से हो गया कि अब जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम की कोई आवश्यकता नहीं है। पर, बाद में कई जगह लोगों ने कहा कि जनता दरबार होना चाहिए। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो तरीका पहले जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम का था, वही इस बार भी अपनाया जाएगा। सिर्फ इस समय, चूकि कोरोना का दौर चला है, इसलिए जो भी लोग आना चाहेंगे, उनको आने की सब सुविधा जिला स्तर पर दी जाएगी। इसके बार में नियम बनाने को हमने कह दिया है। इसकी पूरी जानकारी लोगों को दी जाएगी। 

सोनू मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले है पिछले 4 साल से डिजिटल पत्रकारिता...