1625668218042

प्याज के भाव में एक बार फिर गिरावट शुरू हो गई है। महेवा थोक मंडी में चार दिनों के भीतर चार सौ रुपये प्रति क्‍व‍िंटल कमी आई है। थोक में प्याज 2200 से 2300 रुपये ङ्क्षक्वटल तो फुटकर में 30 से 32 रुपये बिक रहा है। महाराष्ट्र के नासिक में सोमवार को 1700 से 1800 रुपये क्‍व‍िंटल की दर पर प्याज की लोड‍िंंग हुई।

Also read: Vande Bharat Train : पटना, आरा, बक्सर होते हुए बिहार से राजधानी दिल्ली के लिए रवाना होगी वंदे भारत एक्सप्रेस, जानिए…

थोक कारोबारियों के मुताबिक मांग में सुस्ती के चलते आगे दाम में और गिरावट आ सकती है। प्याज की कीमतों में कमी से लोगों ने राहत की सांस ली है।

Also read: Gold Price News : पिछले सप्ताह के मुताबिक़ इस सप्ताह में सोना हुआ है ₹2,100 अधिक सस्ता, जान लीजिये अब घटेगी या बढ़ेगी…

नवंबर से मई तक प्याज के दाम स्थिर थे। फुटकर बाजार में 18 से 20 रुपये किलो तक बिक रहा था, लेकिन जून में प्याज का भाव ऊपर चढऩे लगा और फुटकर बाजार में 35 रुपये किलो तक पहुंच गया। प्याज के दाम बढऩे की वजह बारिश को बताया गया। दरअसल बारिश की वजह से नासिक में प्याज की बहुत नुकसान पहुंचा था। 

Also read: Bihar Weather Update : बिहार में इतनी तपती गर्मी से लोग है परेशान, बहुत जल्द लोगों को मिलने वाली है राहत होगी भारी बारिश!

प्याज की कीमतों में तेजी का असर खुदरा बाजार में दिखाई दिया और बीते सप्ताह 35 रुपये किलो तक प्याज बिका। थोक कारेाबारी शमशाद अहमद ने बताया कि नासिक और शाजापुर से आने वाले प्याज के दाम में कमी आई है। बजार में डिमांड न होने की वजह से दाम कम हुए हैं। 

Also read: गर्मी को देखते हुए बड़ा फैसला लिया गया अब बिहार में अगले 8 जून तक रहेंगे सभी स्कूल बंद, लगातार बच्चे की हालत हो रही थी खराब

थोक मंडी में प्याज के दाम में गिरावट आने के बावजूद फुटकर में प्याज 30 से 32 रुपये किलो ही बिक रहा है। एक फुटकर विक्रेता ने बताया कि भीगने की वजह से प्याज बहुत खराब निकल रहा है इसलिए दाम कम करने पर मुनाफा के बजाए नुकसान होगा। मंडी से प्याज लाकर उसे छाटना पड़ता है। 

सोनू मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले है पिछले 4 साल से डिजिटल पत्रकारिता...