AddText 07 06 09.36.22

सोमवार को चिराग पासवान आशीर्वाद यात्रा को लेकर दिल्ली से पटना पहुंचे। यात्रा की शुरुआत से पहले उन्होंने नई दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए बताया ” मैं रामविलास पासवान का बेटा हूं यानी कि शेर का बेटा हूं।‌ जैसे पापा कभी नहीं डरे थे वैसे मैं भी कभी नहीं डरूंगा।

Also read: खुशखबरी : बिहार में एका-एक इतना रुपया सस्ता हुआ डीजल और पेट्रोल जानिये क्या है ताजा कीमत

लाख मुझे कोई गिराने की कोशिश करें जैसे पापा सच्चाई की जगह पर लड़ाई लड़ते रहे वैसे ही हम लोग लड़ेंगे और जीत कर दिखाएंगे।” इस दौरान अपने पिता को याद करते हुए चिराग पासवान भावुक भी हुए। और दिल्ली से पटना के लिए निकल पड़े। एयरपोर्ट ‌उनके समर्थकों ने उनका जोरदार स्वागत किया।

Also read: भागलपुर से राजधानी पटना और दिल्ली के लिए सफ़र करना हुआ आसान जान लीजिये समय-सारणी और टाइम टेबल…

अचानक बहन से मिलने पहुंच गये: बता दें कि बिहार आते ही चिराग आशीर्वाद यात्रा की ओर निकल पड़े। कि अचानक अपनी बहन से मिलने पटना स्थित कुन्हरार उनके आवास पर पहुंच गए। पहुंचते ही दोनों गले मिलकर फूट-फूटकर रोने लगे। बता दें कि चिराग पासवान और उनकी बहन बहनोई के बीच 36 का आकंड़ा रहता है।

Also read: सोमवार की सुबह सोने की कीमत में हुई बड़ी गिरावट जान लीजिये आपके क्षेत्र में क्या है ताजा भाव पूरी खबर…

चिराग के बहनोई और RJD नेता अनिल कुमार साधु अक्सर चिराग पर जुबानी हमले किया करते हैं लेकिन चिराग ने अचानक से बहन बहनोई के घर पहुंच कर सबको चौंका दिया। इससे पहले चिराग पटना एयरपोर्ट से निकलते ही हाईकोर्ट केपास स्थित अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करना था लेकिन जब चिराग वहां पहुंचे तो गेट पर ताला लगा पाया इस बात से नाराज होकर चिराग पासवान वहीं पर धरने पर बैठ गए।

Also read: सफ़र कीजिये वन्दे भारत एक्सप्रेस से बचाएगी आपको पुरे 50 मिनट का समय, इस रूट पर होने जा रही है शुरू

सोनू मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले है पिछले 4 साल से डिजिटल पत्रकारिता...