AddText 07 05 07.24.25

जब हाईवे और पुल बनते हैं तो लोगों की जमीन उसमें चली जाती है, जिसके लिए सरकार मुआवजा भी देती है। लेकिन चीन के Guangzhou शहर की ये घटना बता रही है कि ऐसे निर्माण के लिए जमीन देने से मना करने पर क्या होता है। दरअसल, चीन में एक हाईवे बनाया जा रहा था।

Also read: बड़ी खबर : Muzaffarpur से Anand Vihar के लिए चलने वाली विशेष ट्रेन को लेकर आया बड़ा अपडेट टिकट लेने से पहले…

लेकिन एक छोटा सा घर उसके रास्ते में रोड़ा बन गया। सरकार ने उस जमीन को खरीदना चाहा, लेकिन घर की मालकिन ने बेचने से मना कर दिया और लंबे समय तक अपने फैसले पर अड़ी रही। इसके बाद हाईवे बना दिया गया और महिला का घर ट्रैफिक से घिर गया।

Also read: सफ़र कीजिये वन्दे भारत एक्सप्रेस से बचाएगी आपको पुरे 50 मिनट का समय, इस रूट पर होने जा रही है शुरू

रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला का नाम Liang है। वह 10 साल तक चीनी सरकार के खिलाफ खड़ी रहीं। सरकार उनका घर खरीद कर तोड़ना चाहती थी ताकि हाईवे का निर्माण कर सके। लेकिन जब महिला राजी नहीं हुई तो डेवलपर्स ने उसके छोटे से घर के चारों ओर एक मोटरवे पुल बना दिया। अब इस घर को Nail House के नाम से जाना जाता है.

Also read: खुशखबरी : बिहार में एका-एक इतना रुपया सस्ता हुआ डीजल और पेट्रोल जानिये क्या है ताजा कीमत

मेलऑनलाइन’ की रिपोर्ट्स के अनुसार, महिला ने इसलिए जगह नहीं छोड़ी क्योंकि सरकार उन्हें एक आइडियल जगह पर प्रॉपटी नहीं दे पा रही थी। उन्होंने कहा, ‘मैं हालात का मुकाबला करने में ज्यादा खुश हूं, बजाया ये सोचने के कि लोग मेरे बारे में सोचेंगे। उन्होंने समझाया, ‘आप समझते हैं कि यह माहौल खराब है, लेकिन मुझे लगता है कि यह शांत, स्वतंत्र, सुखद और आरामदायक है। 

Also read: सोमवार की सुबह सोने की कीमत में हुई बड़ी गिरावट जान लीजिये आपके क्षेत्र में क्या है ताजा भाव पूरी खबर…

सरकारी अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने साल 2010 में Haizhuyong Bridge के निर्माण के लिए इस प्लॉट को हटाने का फैसला किया था। लेकिन उस फ्लैट के साथ ब्रिज के निर्माण में एक दशक लग गया। अधिकारियों के अनुसार, घर की मालकिन Liang को मुआवजे के तौर पर कई फ्लैट के साथ-साथ नगदी भी ऑफर की गई थी.

सोनू मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले है पिछले 4 साल से डिजिटल पत्रकारिता...